Thursday, March 26, 2020

भूख से ना मर जाएं इसलिए दिल्ली से फरीदाबाद के रास्ते झांसी पैदल ही चल दिए सैकड़ों श्रमिक परिवार

बल्लभगढ़26मार्च(Abtaknews.com दुष्यंत त्यागी )। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के नाम संदेश के दौरान पूरे देश को लॉक डाउन करने की घोषणा के बाद देश की राजधानी दिल्ली में हड़कंप मच गया है। देश के कोने कोने से रोजी-रोटी की तलाश में दिल्ली में रहने वाले सैकड़ों श्रमिक परिवारों के सामने दो वक्त की रोटी के लाले पडने लगे। खतरे को भांप कर ये अभागे लोग अब पैदल ही वापिस अपने अपने पैतृक गांव के लिए निकल लिए हैं। दिल्ली के पटपड़गंज से पैदल चलते हुए करीब 40 किलोमीटर दूर फरीदाबाद के रास्ते हाईवे से होते हुए बल्लभगढ़ पहुंचे रामभज और भरतू ने संवाददाता को बताया कि वह दिल्ली में मजदूरी करते थे। कोरोना महामारी के डर से अब सब कुछ बंद हो गया है तो उनके पास अपने और बच्चों के लिए खाना खाने तक के पैसे नहीं है। इससे पहले वह भूख से दिल्ली में ही मर जाए इसलिए वह अब पैदल ही झांसी जा रहे हैं। दिल्ली से झांसी की दूरी लगभग 1300 किलोमीटर है । यह सैकड़ों लोग दिन-रात पैदल चलते हुए लगभग 10-12 दिन में अपने गंतव्य पर  पहुंचेंगे। इन लोगों की गोद में छोटे-छोटे बच्चे, महिलाओं के सिर पर सामान की पोटली रखी है और साथ में बुजुर्ग भी हैं। जोकि पूरे सामान के साथ पैदल ज्यादा लंबा  सफर नहीं कर पाएंगे मगर उसके बावजूद भी मजबूरन इन लोगों को अपने अपने गांव पैदल ही जाना पड़ रहा है। 14 अप्रैल तक पूरे देश में लॉक डाउन है जिसके चलते हैं बस रेल सहित कोई भी वाहन सड़क पर नहीं चलेगा।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages