Thursday, February 13, 2020

जीव जंतुओं में जान डालना भूल गये शिल्पकार, सूरजकुंड मेला देखने आए पर्यटक कलाकार की कला पर हुए लट्टू

फरीदाबाद(abtaknews.com -दुष्यंत त्यागी ) 13 फरवरी, 2020: कला और कलाकारों की हमारे देश में कमी नहीं है बस उन्हें सही मंच मिलना चाहिए, कलाकारों को वहीं मंच सूरजकुंड मेेले में मिला है जहां कला है कलाकार हैं और कला के कद्रदान भी, जी हां मध्यप्रदेश से बंबू आर्ट एंड क्राफट लेकर पहुंचे राज्यस्तरीय अवार्डी रविन्द्र ठाकुर की कला पर्यटकों को जमकर पसंद आ रही है और आये भी क्यों न क्योंकि बांस से पशु पक्षी जीव जंतु बनाने वाले कलाकार ने इस कला को फुरसत में जो बनाया है। जिन्हें बांस की सांस का नाम भी दिया गया है।


इन जीव जंतुओं की तस्तीरें देखकर लगता है कि शरीर तो तैयार हो चुका है बस जान डाल दीजिये फिर ये भी इस दुनियां में मन मस्त हो जायेंगे, कडी मेहनत लग्न से तैयार की गई यह कला किसी नाम की मोहताज नहीं है बस इनका काम बोलता है।
इस कला को कलाकृति में बदलने वाले मध्य प्रदेश निवासी राज्य स्तरीय अवार्ड से नवाजे जा चुके शिल्पकार रविन्द्र ठाकुर पहली बार सूरजकुंड मेले में पहुंचे है और बहुत खुश हैं क्योंकि पहली बार उन्हें उनकी कला के कद्रदान जो मिले हैं। शिल्पकार रविन्द्र ने बताया कि पहले वह मूर्तिया बनाते थे फिर उन्होंने खत्म हो रही बांस की कला को देखकर बांस से कलाकृति बनानी सीखी और फिर क्या बांस से ऐसी कला दिखाई कि सब मोहित हो गये, बांस से उन्होंने हिरन, चिड़िया, कछुआ सहित क्या - क्या नहीं बनाया, इसे बनाने के पीछे उन्होंने कारण बताते हुए कहा कि उन्हें जीव जंतुओं से बहुत प्रेम है इसलिये वह इस बांस से सांस डालने चाहते हैं। उनके पास दो सौ से लेकर 10 हजार तक के आईटम हैं जिन्हें पर्यटक न सिर्फ पसंद कर रहे हैं बल्कि खरीद भी रहे हैं।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages