पर्यटकों की तालियों और किलकारी से गूँजने वाली चौपाल दिखी खाली, वीआईपी भी रहे दूर

फरीदाबाद(abtaknews.com दुष्यंत त्यागी) 06 फरवरी, 2020: हरियाणा पर्यटन विभाग ने सूरजकुंड मेले में आने वाले पर्यटको की मन मस्ती के मुताबिक सब कुछ किया है मगर 6 फरवरी की शाम दिल्ली की कलाकार महुआ सेन की प्रस्तुति करवा कर उन्ही पर्यटकों पर मानसिक रूप से अत्याचार कर दिया है , जी हां सूरजकुंड मेले में 7 फरवरी की शाम को हसीन बनाने के लिए पर्यटन विभाग ने दिल्ली की कलाकार महुआ सेन को बुलाया, जिनके स्वर लगने से पहले लोग भारी संख्या में एकत्रित हुए लेकिन प्रस्तुति देखने और सुनने के बाद एक-एक कर  खिसकते हुए नजर आए। 
चौपाल पर बस पुलिसकर्मी और मेला कर्मचारी ही मौजूद रहे गए।  इतना ही नहीं वीआईपी भी कुछ ही देर रुकने के बाद चौपाल छोड़कर चले गए।  देखते ही देखते मेले की मुख्य चौपाल जो हर शाम भारी भीड़ के साथ सजी रहती है वह पहली बार खाली खाली नजर आई।हालांकि इसके बावजूद भी कलाकार महुआ सेन ने गीत-मिले हुए हो..पहचान लोगे ना.., सडक़ों से निकलेंगे.., शिकायत का क्या होगा, जिंदगी मुकाबला. काफिर और कहां मिले हम जैसे गीत सुनाए। 

No comments

Powered by Blogger.