दिल्ली विधान सभा चुनावों में वामपंथ का हुआ बुरा हाल, कांग्रेस को अस्तित्व बचाना हुआ मुशिकल

गुरुग्राम(abtaknews.com-आशीष राजपूत) 13 फरवरी, 2020: हाल ही में हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव का नतीजा सबके सामने है। इस केंद्र शासित प्रदेश में पिछले पांच साल से सत्ताधारी आम आदमी पार्टी ने फिर से वापसी की है। पिछले बार की ही तरह इस बार भी प्रचंड बहुमत से जीती आम आदमी पार्टी ने कुल 70 सीटों में से 62 पर जीत हासिल की. भारतीय जनता पार्टी इस बार 2015 के मुकाबले पांच सीट की बढ़ोत्तरी के  साथ कुल आठ सीटों पर विजय प्राप्त कर पाई. देश की राजनीती में जीत हार की चर्चा के बीच एक और आश्चर्यजनक आंकडें बाहर निकलकर आते हैं जो देश में अलग अलग तरीके से स्वयं को जिन्दा बनाये रखने की कोशिश में लगे वामपंथ की आखिरी उम्मीद भी तोड़ने वाले हैं। 
दिल्ली विधानसभा चुनाव में कुल 62.59% मतदान हुआ जिसमें आम आदमी पार्टी ने कुल 53.57% मत के साथ 49,74,522 वोट प्राप्त किये तो वंही दुसरे न. पर रही भारतीय जनता पार्टी ने 38.51% मत के साथ 35,75,430 वोट प्राप्त किये. इसी क्रम में एक भी सीट न जीत पाने वाली भारत की सबसे पुरानी और राष्ट्रिय स्तर की राजनितिक पार्टी  कांग्रेस 4.26% के साथ कुल 3,95,924 वोट हासिल किये. अगर वामपंथी पार्टियों को मिले वोट की बात करें तो सीपीआई(एम) ने केवल 0.01% वोट हासिल किये जबकि सीपीआई ने थोड़ा बेहतर 0.02% वोट प्राप्त किये. अगर कुल वोटों की संख्या देखें तो सीपीआई(एम) ने कुल एक हजार दो सौ छत्तीस (1,236) वोट प्राप्त किये और सीपीआई ने एक हजार नौ सौ छप्पन (1,956) वोट प्राप्त किये. इस प्रकार वामपंथियों ने कुल 3,192 वोट हासिल किये जो कि कुल मतदान का केवल 0.03% प्रतिशत है। 
इस प्रकार यह साबित हो गया कि बिहार, बंगाल, त्रिपुरा में सफाया होते हुए अब सिर्फ केरल ही है जंहा वामपंथ सांसें ले पा रहा है. दिल्ली में जवाहर लाल नेहरु विश्विद्यालय के माध्यम से भले ही मीडिया में वामपंथी रहते हों लेकिन वंहा भी वो लुप्त होने की तरफ अग्रसर है. दिल्ली के आंकड़े यह बताने के लिए काफी है कि आज़ादी के नारे लगाते वामपंथियों को जनता ने राजनीती से आज़ादी दे दी है. देश के अंदर मौजूद राष्ट्रवाद के माहौल में न सिर्फ वामपंथ ने अपनी जमीन हमेशा के लिए खो दी बल्कि लगातार देशविरोधी मानसिकता का प्रदर्शन करने के कारण भविष्य में लौटने के भी सारे दरवाजे बंद कर दिए। 

No comments

Powered by Blogger.