Monday, February 3, 2020

फरीदाबाद में शौंचालय घोटाला, कागजों पर शौंचालय बना करोड़ों डकार गए अधिकारी

फरीदाबाद(abtaknews.com)03फरवरी,2020: कागजों पर कुआं, तालाब, सड़क, पार्क बनाकर पहले भी अधिकारी सरकारी पैसे खा जाते थे और अब भी कुछ ऐसा ही खेल जारी है। बार एसोसिएशन फरीदाबाद के पूर्व प्रधान एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष एडवोकेट एलएन पाराशर का दावा है कि फरीदाबाद जिले में शौंचालय के नाम पर अधिकारी करोड़ों खा गए हैं। पाराशर के मुताबिक़ सम्बंधित विभाग के अधिकारियों ने अपनी लिस्ट में ऐसे लोगों के नाम भी लिखे हैं जिनकी बहुत पहले मौत हो चुकी है और अधिकारियों ने उनके भी घर पर शौंचालय बना दिखा दिया है। पाराशर ने बताया कि लिस्ट में एक-एक व्यक्ति के तीन-तीन जगहों पर नाम दिखाया गया है। पिता का नाम वही है। नाम में थोड़ी से स्पेलिंग बदल दी गई है। 
पाराशर के मुताबिक़ बदरपुर सैद निवासी नेपाल सिंह ने उन्हें एक लिस्ट सौंपी जिसमे ये घोटाला साफ़ दिख रहा हैं। गांव में तमाम घरों में अब भी शौंचालय नहीं बने हैं लेकिन कागजों ऐसे लोगों के घरों में सरकारी शौंचालय बना दिखाया गया है। यही नहीं एक-एक घर के तीन-तीन व्यक्ति के नाम पर शौंचालय बना दिखाया गया है जबकि मौके पर शौंचालय बने ही नहीं हैं। कुछ ऐसे नाम लिस्ट में दिए गए हैं जो गांव के निवासी ही नहीं हैं और कई ऐसे नाम हैं जो दशकों पहले स्वर्ग सिधार चुके हैं। 
पाराशर ने बताया कि भ्रष्ट अधिकारियों ने बदरपुर सैद ग्राम पंचायत को कागजों पर इतना चमकाया कि राज्य सरकार ने गांव को खुले में शौंच मुक्त और स्वच्छता के निये निर्मल गांव का आवार्ड दे दिया। पाराशर ने बताया कि गांव के युवक नेपाल सिंह ने उन्हें बताया कि खुले में शौंच से मुक्त गांव अब भी नहीं हो सका है। अधिकारी कागजों पर विकास दिखा पैसे डकार गए। राज्य सरकार से बड़ा फ्राड किया। पाराशर ने कहा कि पूरे जिले के हर क्षेत्र की लिस्ट देखी जाए तो ये करोड़ों का घोटाला है। इस घोटाले को भ्रष्ट अधिकारियों ने अंजाम दिया है। पाराशर ने कहा कि वो मुख्य्मंत्री हरियाणा और गृह मंत्री को पत्र लिखकर मांग करेंगे कि इस घोटाले की उच्च स्तर पर जांच कराई जाए और घोटाले में लिप्त अधिकारियों पर कार्यवाही की जाए। 

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages