साईधाम में सामूहिक विवाह समारोह का आयोजन, 25 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे

 
फरीदाबाद(Abtaknews.com): शिरडी साई बाबा टेम्पल सोसाइटी फरीदाबाद में २५ कन्याओं के सामूहिक विवाह का आयोजन किया गया। जिसमें दूर दराज से आये हुए हजारों लोगों के लिए नास्ते व भोजन की सुविधा के साथ गृहस्थी चलाने के लिए जरूरी सामान पंलग, बर्तन, कपड़े, गैस चुल्हा, साईकल आदि नि:शुल्क भेंट किये गए। शिरडी साई बाबा टेम्पल सोसाइटी वर-वधु से एक भी पैसा नहीं लेती। यह फरीदाबाद की एक मात्र संस्था है जो सामूहिक विवाहों का आयोजन पूरी तरह नि:शुल्क करती है। सामूहिक विवाह के इस अवसर पर शहर के गणमान्य लोगों ने उपस्थित होकर कार्यक्रम की शोभी बढ़ाई। साई धाम के संस्थापक डा. मोतीलाल गुप्ता ने आए हुए सभी मेहमानों आने पर स्वागत करते हुए कहा कि शिक्षा से ही देश और समाज का विकास संभव है। उन्हेंने कहा कि सेवा परमोधर्म है। डा. गुप्ता ने कहा तन, मन से भी समाज की सच्ची सेवा की जा सकती है, एक गरीब आदमी जमींन में गड्डा खोदकर पानी भर दे उसमें पक्षी जीव-जन्तु अपनी प्यास बुझाएंगे हो गई समाज सेवा। सेवा से ही हम अपना यह जन्म ही नहीं आगे का जन्म भी संवार सकते हैं।  रोहित रूंगटा ने साई धाम की समाज सेवाओं को राष्ट्र निर्माण में एक महत्व पूर्ण कदम बताया। १९८८ में डा. मोतीलाल गुप्ता ने शिरडी साई बाबा टेम्पल सोसाइटी की स्थापना की उसके बाद से ही उन्होंने अपना जीवन समाज सेवा और राष्ट्र निर्माण में समर्पित कर दिया। सही मायने में डा. मोती गुप्ता बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं की भावना को सार्थक कर रहे हैं। उन्होंने देश और समाज के उत्थान में साईधाम के महान कार्यों की प्रंशसा की। मुख्य अतिथि श्री ए पी गर्ग ने इस अवसर पर मोतीलाल जी के द्वारा आयोजित सामूहिक विवाह सम्मेलन की सराहना की। उनके द्वारा समाज में निम्न वर्ग के बच्चों को शिक्षित करना पुण्य का काम है। साईधाम की समाज सेवाओं से प्रभावित होकर उन्होंने लंबे समय तक जुड़े रहने का आसवासन दिया। वे भविष्य में डा. मोतीलाल गुप्ता के दिशा निर्देशों का पालन करने के लिए तैयार रहेंगे। श्रीमती सुनीता दुग्गल, सांसद, सिरसा ने साईधाम की शिक्षा, स्वास्थ्य, वोकेशनल, कपड़ों के वितरण, सामूहिक विवाह के कार्यों की सराहना की। उन्होंने कहा की संत होने के लिए भगवा धारण करने की जरूरत नहीं है। सामान्य जीवन में भी डा. मोतीलाल गुप्ता एक सच्चे संत की परम्परा को आगे बढ़ा रहे हैं। ‘सेवा परमोधर्म’ की भावना को डा. मोती लाल गुप्ता ने सही मायने में चरितार्थ किया है। शिक्षा के माध्यम से गरीब व असहाय बच्चों को संस्कारवान बनाकर डा. मोतीलाल गुप्ता राष्ट्र उत्थान में एक क्रान्तिकारी पहल कर रहे हैं। मंच संचालन नवाब केसर यादव ने किया। उन्होंने मोतीलाल गुप्ता को समाज का सच्चा हितेशी बताया। युगों-युगों में डा. मोती लाल गुप्ता जैसी प्रतिभा जन्म लेती है। समारोह के समापन पर संस्था के रोहित रूंगटा ने अतिथियों का अभिनंदन किया तथा उनके अतुलनीय सहयोग के लिए धन्यवाद दिया। इस अवसर पर वाइस चेयरमैन संदीप गुप्ता, प्रदीप मोहंती, जैकलीन जिन्दल, जैकलीन जिन्दल, मनीष अग्रवाल, अमित अग्रवाल, मनोहर पुन्यानी, प्रिंसीपल बीनू शर्मा, डा. आलोकदीप, मीरा गोयल, तरूण गर्ग, संदीप सिंगल, , दर्शना गुप्ता, कन्हैया लाल गुप्ता, रेखा गुप्ता, रिचा गुप्ता, आर पी गुप्ता, रितु पवार, सोनाली गौर, विदिशा बालियान, असमां खन्ना, अंजू कुमारी, निधि अग्रवाल, सोमिका गुप्ता, नेहा चोधरी, एस के गुप्ता, सुधा गुप्ता, अतुल भटनागर, बी डी मित्तल, बी के गोयल, राजकुमार, पं. महावीर शास्त्री, के ए पिल्ले मैनेजर, रेखा गुप्ता, आर पी गुप्ता, अजय चोपड़ा, विकास रॉय, एस एस वर्मा आदि अतिथियों ने कार्यक्रम की शोभा बढाई।

No comments

Powered by Blogger.