भगवत दयाल मौत मामला :नेग्लीजेंस बोर्ड ने डॉ प्रबल राय व डॉ संजय से लिये मेडिकल रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट

फरीदाबाद(Abtaknews.com): नेग्लीजेंसी बोर्ड, जिला नागरिक हॉस्पिटल (फरीदाबाद) के मेंबर सेक्रेटरी द्वारा गठित इन्क्वारी बोर्ड के समक्ष क्यूआरजी हॉस्पिटल सेक्टर-16, फरीदाबाद के डॉ प्रबल रॉय व डॉ संजय कुमार ने फिर एक बार अपने बयान दर्ज करवाये साथ ही नेग्लीजेंस बोर्ड ने दोनों डॉक्टरों से उनके मेडिकल रजिस्ट्रेशन  सर्टिफिकेट की कॉपी भी ली। बोर्ड के पास गैस्ट्रोनोलॉजी का डॉक्टर न होने के कारण आगे की जांच के लिए ट्रीटमेंट की फाइल रोहतक (पीजीआई) भेजने के लिए कहा गया। इस मामले में अगली सुनवाई के लिए 10  जनवरी 2020 को होगी जिसमे क्यूआरजी हॉस्पिटल के आईसीयू के डॉक्टर हिमांशु दीवान को बोर्ड के समक्ष मौजूद होने के निर्देश दिए गए। दिवंगत के परिजानों का कहना है की इस मामले की निष्पक्ष जांच की जाए ताकि उन्हें न्याय मिल सके। उन्हें लगता है की कही न कही कोई घोर लापरवाही डॉक्टरों के द्वारा हुई है जिस कारण उनके  मौत हुई। उन्होंने कहा की भगवत दयाल (38 वर्षीय ) जो की अपनी पथरी का इलाज़ कराने क्यूआरजी हॉस्पिटल सेक्टर-16, फरीदाबाद में खुद पलवल से चलकर अकेला हॉस्पिटल आया था।  जिसकी डॉक्टरो ने बिना अल्ट्रासाउंड व कोई अन्य पेट की जांच किये कई सर्जरी कर दी बाद मैं उसे वान्टेलेटर पर शिफ्ट कर दिया बिना कारण बताएं। बार बार पूछने पर भी डॉक्टर कोई स्पष्ट जवाब नहीं दे सके। उन्होंने कहा की वह जल्द ही इस मामले को लेकर स्वास्थय मंत्री अनिल विज जी से मिलकर निष्पक्ष जांच की मांग करेंगे। जांच पैनल के डॉक्टरों में डॉ. नवदीप सिंह , डॉ.पुनिता हसीजा, डॉ. सुरेश पासी व डॉ. उपेन्दर भारद्वाज मौजूद रहे। 

No comments

Powered by Blogger.