Thursday, January 30, 2020

परिवार समृद्धि योजना के तहत जिले के सभी पात्र परिवारों के परिवार पहचान-पत्र जल्द से जल्द बनवाना सुनिश्चित करें अधिकारी

फरीदाबाद (abtaknews.com ) 30 जनवरी। मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव वी. उमाशंकर ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से जिला अधिकारियों को निर्देश दिए कि मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना के तहत जिले के सभी पात्र परिवार जिनकी वार्षिक आय एक लाख 80 हजार रूपये तक है, ऐसे सभी परिवारों के परिवार पहचान-पत्र जल्द से जल्द बनवाना सुनिश्चित करें, ताकि पात्र परिवारों को 6 हजार रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जा सके। जिन परिवारों के पहचान पत्र बन चुके है, उनके खाते में अगले सप्ताह यह राशि पहुंच जाएगी। इस योजना के तहत सरकार द्वारा इस वर्ष 15 लाख परिवारों तक लाभ पहुंचाने का लक्षय निर्धारित किया गया है। जिलों में विशेष कैंप लगाकर मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना के तहत परिवार पहचान-पत्र बनाए जाएं।
वी. उमाशंकर ने कहा कि परिवार समृद्धि योजना मुख्यमंत्री का एक ड्रीम प्रोजेक्ट है, पात्र व्यक्तियों तक इसका ज्यादा से ज्यादा लाभ पहुँचाने के लिए सभी अधिकारियों को गहन रूचि लेकर कार्य करना होगा। उन्होंने बताया कि प्रत्येक दिन की कारगुजारी की रिपोर्ट मुख्यालय पहुँचे, इसके लिए सभी उपायुक्तो का डेस्क बोर्ड बनाया जा रहा है तथा हैल्पलाईन नम्बर भी शुरू हो चुका है।  
अतिरिक्त प्रधान सचिव ने बताया कि सभी उपायुक्त अपने-अपने जिलों में कार्य योजना बनाकर काम करें, ग्राम पंचायत के माध्यम से मनादी करवाएं। ग्राम सचिव व पटवारी ज्यादा से ज्यादा लोगों को परिवार पहचान पत्र बनवाने के लिए प्रेरित करें। उन्होंने बताया कि इस योजना का लाभ उठाने के लिए सम्बंधित व्यक्ति के लिए परिवार पहचान पत्र बनवाना जरूरी है। यह परिवार पहचान पत्र सीएससी मे ऑनलाईन प्रक्रिया के माध्यम से बनवाए जा रहे हैं। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना के तहत अधिक से अधिक किसानों को रजिस्ट्रड करवाया जाए, ताकि किसानों को आने वाले सीजन में फसल बेचते समय किसी भी असुविधा का सामना ना करना पड़े। उन्होंने कहा कि सीएससी संचालक परिवार पहचान पत्र बनाने में खास रूचि लें। परिवार पहचान पत्र बनाने के लिए सीएससी संचालक को 20 रूपये प्रति कार्ड के हिसाब से मानदेय मिलेगा, जो उनके खाते में 15 दिन के अन्दर-अन्दर जमा करवा दिए जाएंगे। विडियो कांफ्रेंस में हरियाणा राज्य कृषि विपणन मण्डल के प्रशासक जे. गणेशन तथा पंचायती राज विभाग के निदेशक सुशील सारवान भी उपस्थित थे।
बाद में उपायुक्त यशपाल ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि इस योजना के तहत पूरा जिला कवर किया जाना है, जिसमें सभी गांवों के सरपंच व पंच अपने क्षेत्र में यह पहचान-पत्र की प्रक्रिया पूरी करवाएंगे। इसमें गा्रम सचिव व पटवारी व जूनियर प्रोग्रामर गहरी रूचि लेकर कार्य पूरा करवाएं। अगर इसमें किसी गांव के पंच या सरपंच कोताही बरतते हैं तो उनके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना का फायदा वहीं लोग उठा सकते हैं, जिनके पास परिवार पहचान पत्र होगा। उन्होंने कहा कि योजना के तहत सभी पात्र व्यक्तियों के पहचान पत्र हर हालत में 31 मार्च तक बना दिए जाएं।
----------------------------------------------------------

फरीदाबाद, 30 जनवरी। जनगणना से जुड़े अधिकारियों व कर्मचारियों के लिए जिला सचिवालय मंे जनगणना निदेशालय की ओर से दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्यालय के कंसलटेंट सेंसस चंद्र शेखर सपरू द्वारा विस्तार से जनगणना-2021 के लिए कार्य करने वाले अधिकाकियों व कर्मचारियांे को विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जिला फरीदाबाद में जनगणना का कार्य पूर्ण करवाने के लिए लगभग 4 हजार 600 अधिकारियों व कर्मचारियों को लगाया जाएगा। इसके लिए जिले को 10 चार्ज में बांटा गया है, जिसमें से सात चार्ज शहरी क्षेत्र के होगंे, जिनमंे एनआईटी-एक, दो व तीन, ओल्ड फरीदाबाद-एक व दो तथा बल्लबगढ-एक व दो तथा शहरी क्षेत्र के लिए सभी जैडटीओ चार्ज अधिकारियांे होंगे तथा ग्रामीण क्षेत्र के लिए सभी तहसीलों के तहसीलदारांे को चार्ज अधिकारी नियुक्त किया गया है। इस प्रशिक्षण शिवर में 24 कर्मचारियांे द्वारा हिस्सा लिया गया जिसमें चार्ज के प्रतिनिधि कर्मचारी थे।
श्री शेखर ने इस अवसर पर जनगणना के महत्व तथा आवश्यकता के बारे में भी विस्तार से बताया। जनगणना का कार्य एक मई से शूरू होकर 15 जून तक चलेगा। इसमें प्रत्येक घर से किस प्रकार व कौनसी सूचना एकत्रित की जाएगी, जैसे घर में स्वच्छ पीने का पानी, बिजली की उपलब्धता आदि के बारे में जानकारी एकत्रित की जाएगी। मुख्य रूप से वर्ष-2010 में हुई एनपीआर के कार्य को 2015 में पुनः से अपडेट किया था। अतः उसी एनपीआर के डाटा को अपडेट किया जाना है। प्रशिक्षण शिविर का समापन नगराधीश एवं नोडल अधिकारी बलिना द्वारा किया गया। बैठक में जिला सांख्यिकीय अधिकारी जेएस मलिक मुख्य रूप से उपस्थित रहें।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages