कुछ राजनीतिक दल संशोधित नागरिकता कानून को लेकर छात्रों को कर रहे हैं भ्रमित: अनूप वशिष्ठ

फरीदाबाद (Abtaknews.com) 18दिसंबर, 2019: संशोधित नागरिकता कानून देने के लिए है किसी को नागरिकता लेने के लिए नहीं। जेसी बोस यूनिर्वसिटी वाईएमसीए छात्रसंघ प्रधान वशिष्ठ। संशोधित नागरिकता कानून पर हो रहे हंगामे को लेकर जेसी बोस युनिर्वसिटी वाईएमसीए छात्र संघ के प्रधान अनूप वशिष्ठ ने कहा कि कुछ राजनीतिक दल अपने राजनितिक लाभ के लिए इस कानून को लेकर छात्रो मे गलत फैहमिया पैदा कर रहे है। केन्द्र सरकार द्वारा पारित किये गये नागरिकता संशोधन बिल का सर्व सम्मति से समर्थन करते है। नागरिकता बिल मे इस संशोधन से दूसरे देशो से आये हिन्दूओं के साथ-साथ सिख, बौध, जैन, पारसी और इसाई समाज के लिए बगैर वैध दस्तावेजो के भी भारतीय नागरिकता हासिल करने का रास्ता साफ हो गया है। वशिष्ठ ने कहा कि प्रधानमंत्री कह चुके है कि नागरिकता कानून मे संशोधन को लेकर किसी भी भारतीय को किसी तरह की चिंता करने की जरूरत नही। उन्होने भरोसा दिया है कि इससे भारत के किसी भी धर्म के किसी भी नागरिक पर कोई प्रभाव नही पडेगा। यह कानून सिर्फ देश के बाहर के उन लोगो के लिए है जो वर्षाे से प्रताडना झेल रहे है और जिनके पास भारत के अलावा कही और जाने का विकल्प नही है। संशोधित कानून सिर्फ ऐसे प्रताडित लोगो को नागरिकता प्रदान करने के लिए है। वशिष्ठ ने कहा कि पाकिस्थान, अफगानिस्थान एवमं बंग्लादेश मुस्लिम देश है इनमे रहने वाले अलपसंख्यक हिन्दूओ को यदि प्रताडित किया जाता है तो उनके लिए सबसे सुरक्षित जगह भारत है

No comments

Powered by Blogger.