तकनीकी विकास के साथ साथ पर्यावरण को लेकर हमें संवेदनशीलता दिखानी होगी; देवेंद्र चौधरी

फरीदाबाद (abtaknews.com ) 10 दिसंबर, 2019: तकनीकी तौर पर हम भले ही विकसित हो रहे हैं, लेकिन पर्यावरण को लेकर अब हमें संवेदनशीलता दिखानी होगी, ताकि भविष्य में आने वाली पीढ़ी को एक प्रदूषण मुक्त वातावरण मिल सके और इसमें इलेक्ट्रिक वाहन काफी योगदान दे सकते हैं। यह बात वरिष्ठ उपमहापौर देवेन्द्र चौधरी ने सरस्वती कालोनी निकट नया पुल सेक्टर-37 में स्वर्ण पटियाल हीरों इलेक्ट्रकि मोटर्स के नए शोरूम के उदघाटन के उपरांत मौजूद लोगों से कही। इस मौके पर स्वर्ण सिंह पटियाल,पार्षद जितेन्द्र यादव(बिल्लू),ग्रीवेन्स कमेटी के सदस्य अनिल नागर,सतपाल दायमा,पंकज सिंह,दिनेश राजपूत,एमएल शर्मा व ललित मल्होत्रा मुख्य रूप से उपस्थित थे। देवेन्द्र चौधरी ने कहा कि इंसान होने के नाते पर्यावरण के प्रति हमारी जिम्मेदारी है कि हम आने वाली पीढ़ी के लिए एक स्वच्छ, सुंदर और प्रदूषण मुक्त वातावरण दें। शहरों में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए इलेक्ट्रिक व्हीकल (ईवी) की मांग तेजी से बढ़ रही है। ऐसे में हीरों मोटर्स कंपनी पूरी सक्रियता के साथ काम कर रही हैं। उन्होनें कहा कि इलेक्ट्रिक व्हीकल का सबसे बड़ा फायदा तो यह है कि इससे प्रदूषण में कमी देखने को मिलेगी।

दरअसल पेट्रोल-डीजल से चलने वाली गाडय़िां वातावरण में हानिकारक और जहरीले गैस का उत्सर्जन करती हैं। इससे वायु की गुणवत्ता खराब होती है, जो हमारे स्वास्थ्य के लिए सही नहीं है। इसलिए यदि आप चाहते हैं कि आपका शहर प्रदूषण मुक्त रहे और आपकी सेहत दुरुस्त रहे, तो इलेक्ट्रिक व्हीकल का इस्तेमाल करना शुरू कर दीजिए। वैसे इलेक्ट्र्कि व्हीकल के इस्तेमाल से वायु प्रदूषण के साथ-साथ ध्वनि प्रदूषण में भी कमी आएगी। इस अवसर पर ललित सिंह ने कहा कि इलेक्ट्रिरक से चलने वाली गाडिय़ां पेट्रोल और डीजल से चलने वाली गाडय़िों के मुकाबले ज्यादा शांत होती हैं। पेट्रोल-डीजल से चलने वाले वाहनों की तुलना में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की लागत दो से ढाई गुना अधिक होती है। हालांकि, जब आप इसे खरीदकर घर लाते हैं, तो इसका रनिंग और मेंटेनेंस कॉस्ट पारंपरिक वाहनों की तुलना में करीब एक-चौथाई ही होता है, अर्थात इसकी मेंटेनेंस लागत काफी कम होता है।

No comments

Powered by Blogger.