जे.सी.बोस विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद के विद्यार्थियों एवं शिक्षकों ने दिया सीएए को समर्थन

फरीदाबाद(Abtaknews.com)28 दिसंबर,2019: जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद के विद्यार्थियों एवं शिक्षकों ने आज नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को अपना समर्थन दिया और सीएए को लेकर फैली भांतियों को दूर करने के लिए जागरूकता अभियान चलाया। इस अवसर पर कुलपति प्रो दिनेश कुमार और कुलसचिव डॉ. एस. के. गर्ग भी उपस्थित थे।
इस अवसर पर पिछले दिनों अधिनियम के विरोध में प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा की भी निंदा की गई और कहा कि नागरिकता कानून में बदलाव और इसकी संवैधानिक वैधता के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए देशव्यापी कार्यक्रम आयोजित करने की आवश्यकता है।
उन्होंने कहा कि सीएए का उद्देश्य नागरिकता देना है, जबकि किसी भारतीय नागरिक की नागरिकता को रद्द करना नहीं हैं, इसलिए, अधिकांश लोग इस अधिनियम के समर्थन में हैं, जिसका उद्देश्य पड़ोसी देश अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश के धार्मिक रूप से उत्पीड़ित शरणार्थियों को नागरिकता देना है।

No comments

Powered by Blogger.