Tuesday, December 24, 2019

जल जीवन मिशन के तहत ग्रामीण स्तर पर गठित होंगी कमेटियांः एडीसी धर्मेन्द्र सिंह


फरीदाबाद(abtaknews.com)24 दिसम्बर, 2019: अतिरिक्त उपायुक्त श्री धर्मेन्द्र सिंह ने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत जिला के सभी गांवों में पेयजल एवं सीवरेज समितियों का गठन किया जाएगा ताकि हर घर को नल से जल उपलब्ध हो। प्रदेश सरकार ने वर्ष 2022 तक हर घर मे नल से जल पहुंचाने का लक्ष्य रखा है। जिला प्रशासन ने जिला के हर घर में नल से जल पहुंचाने का प्लान बनाकर कार्य शुरू कर दिया है।अतिरिक्त उपायुक्त धर्मेन्द्र सिंह मंगलवार को जिला सचिवालय स्थित अपने कार्यालय में जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के तत्वावधान में जल जीवन मिशन के संबंध में बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। इस दौरान जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के कार्यकारी अभियंता एवं जिला सलाहकार सत्यनारायण नेहरा ने विभाग द्वारा जल जीवन मिशन को लेकर विस्तृत जानकारी दी। उन्होने बताया कि इस मिशन की घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 15 अगस्त को की गई थी जिसके तहत देश के सभी ऐसे परिवार जिन्हें अब तक नल से पेयजल की सुविधा उपलब्ध नहीं है, यह सुविधा उपलब्ध करवाने का लक्ष्य रखा गया है।
उन्होेने बताया कि जन स्वास्थ्य विभाग द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में सक्षम युवाओं और विभागीय कर्मचारियों के माध्यम से डोर-टू-डोर सर्वे करवाया जा रहा है और यह सर्वे 31 दिसंबर तक किया जाएगा तथा घरों में नल से जल आपूर्ति के साथ-साथ इस सर्वे के दौरान ऐसे क्षेत्रों का भी पता लगाया जा रहा है जहां पाइप लाइन बिछाने अथवा जल आपूर्ति में विस्तार करने की आवश्यकता है। इस मिशन के तहत सभी गांवो को जोड़ा जाएगा, ताकि सभी को स्वच्छ जल उपलब्ध हो सकें। इस दौरान अतिरिक्त उपायुक्त ने सभी विभागों को तालमेल बनाकर जल जीवन मिशन के कार्याें को समय पर पूरा करने के निर्देश दिए।3 चरणों में किया जाएगा काम पूरा:- जल जीवन मिशन का कार्य तीन चरणों में किया जाएगा। प्रथम चरण में 70 प्रतिशत तक कवर किया जाएगा, जिसे 30 जून 2020 तक पूरा करने का लक्ष्य है। दूसरे चरण में 80 प्रतिशत तक कवर करने का लक्ष्य है जो 30 जून 2021 तक पूरा किया जाएगा तथा तृतीय व अंतिम चरण में शत-प्रतिशत कवर करने का लक्ष्य है जिसे 30 जून 2022 तक पूरा किया जाएगा।
ग्राम जल एवं सीवरेज समिति गठन:--अतिरिक्त उपायुक्त ने कहा कि जल जीवन मिशन के तहत ग्राम जल एवं सीवरेज समिति का गठन किया जाएगा जिसमें सरंपच, पंचायत के सदस्य, ग्राम सचिव सहित जन स्वास्थ्य व पंचायती राज विभाग के जेई शामिल होगें। जल जीवन मिशन का उद्देश्य ‘हर घर नल’ से जोडऩा है। इसके क्रियान्वयन के लिए योजना बनाकर कार्य को अंतिम रूप देने के लिए विभिन्न विभागों के अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन विभिन्न प्रकार के जल संरक्षण प्रयासों पर आधारित है।
अतिरिक्त उपायुक्त ने कहा कि सरकार के दिशा-निर्देश पर सरपंच के साथ-साथ पंचों, ग्राम सचिव और गांव के मौजिज लोगों को इस मिशन से जोड़ा जायगा।इस अवसर पर जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी, ंिसचाई विभाग व पीडब्ल्यूडी विभाग के कार्यकारी अभियंता, उप-जिला शिक्षा अधिकारी, सिंचाई विभाग व जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages