बडौली गांव में ग्रामीणों ने लगाया सरकारी स्कूल पर ताला, नई बिल्डिंग और स्कूल अपग्रेड करने की मांग

फरीदाबाद(abtaknews.com) 17 दिसंबर, 2019: बडौली गांव में ग्रामीणों ने लगाया सरकारी स्कूल पर ताला, ग्रामीणों की नई बिल्डिंग बनाने और स्कूल अपग्रेड करने की मांग। मौके पर सैंकड़ों की संख्या में ग्रामीण और काफी संख्या में पुलिस मौजूद। गांव बडौली में राजकीय उच्च विद्यालय की जर्जर हालत और 12वीं तक अपग्रेड करने की मांग को लेकर बच्चों और ग्रामीणों ने स्कूल पर ताला लगा दिया और जमकर शिक्षा विभाग के खिलाफ नारेबाजी की। आरोप है कि सरकारी स्कूल में क्लासरूम न होने के चलते कडकडाती हुई ठंड में बच्चे खुले आसमान के नीचे पढने के लिये मजबूर हैं। बार बार शिक्षा विभाग को नोटिस देने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हुई है जिसके चलते मजबूरन आज बच्चों और ग्रामीणों ने स्कूल से ताला लगा दिया और चेतावनी दी है कि जब तक स्कूल की इमारत नहीं बन जाती और स्कूल 12 वीं तक अपग्रेड नहीं हो जाता है तब तक ताला नहीं खोला जायेगा।

सब पढें और सब बढें, मगर डर के साये में पढने वाले बच्चे कैसे पढ सकते हैं और कैसे आगे बढ सकते हैं,, ऐसी ही तस्वीरें फरीदाबाद के गांव बडौली से आई है जहां 10वीं तक बना हुआ सरकारी राजकीय उच्च विद्यालय जर्जर हालत में पडा हुआ है जिसके चलते नन्हे मुन्ने देश के भविष्य कडकडाती हुई ठंड में भी खुले आसमान के नीचे पढने के लिये मजबूर है। जिससे गुस्साये बच्चों और ग्रामीणों ने स्कूल के गेट से ताला लगा दिया और जमकर शिक्षा विभाग के खिलाफ नारेबाजी की। हंगामा देखकर जिला शिक्षा अधिकारी सतेन्द्र कौर वर्मा और तिगांव विधानसभा के विधायक राजेश नागर के पिता रूप सिंह नागर मौके पर पहुंचे और जल्द ही सभी समस्याओं का समाधान करने का अश्वासन दिया।

मौके पर ग्रामीणों ने गुस्से में आरोप लगाते हुए कहा कि 15 साल से यह स्कूल विकास की बाट जोह रहा है, हालत ये है कि छतें टूट-टूटकर गिरने लगी हैं बरसात आने पर परिसर में पानी भर जाता है। ऐसे में बच्चे न तो क्लासरूम के अंदर पढ सकते हैं और न ही बाहर। उनके गांव में 12 वीं तक स्कूल न होने के चलते गांव की बेटियों को दूर शहर में पढने के लिये जाना पडता है उनकी मांग है कि स्कूल को अपग्रेड करके 12वीं तक किया जाये। जब तक उनकी मांगे नहीं मानी जायेंगी तक स्कूल से ताला लगा ही रहेगा।

No comments

Powered by Blogger.