हिंदू महिलाएं और बेटियां सुरक्षित नहीं इसलिए पाकिस्तान से आए हिंदू शरणार्थियों को ''केब'' बिल से मिलेगी भारतीय नागरिकता

फरीदाबाद ( abtaknews.com ) 13 दिसंबर, 2019: पाकिस्तान में हिंदू परिवारों पर हो रहे अत्याचार और ज्यादती के चलते 2008 में भारत आए कुछ हिंदू शरणार्थी फरीदाबाद में रह रहे हैं, लेकिन वे अब यहां से वापस नहीं जाना चाहते। अब सरकार नागरिक संशोधन बिल लेकर आ रही है उससे उन्हें अब नागरिकता मिलने की उम्मीद जगी है। बच्चे, महिलाओं के साथ 50 से भी ज्यादा सदस्य पिछले लगातार 11 साल से फरीदाबाद में ही रह रहे हैं।

उन्होंने पाकिस्तान में रह रहे हिंदू परिवारों के साथ होने वाली ज्यादती और अत्याचारों को लेकर भी बात की। हिंदू शरणार्थियों का कहना है कि वहां से उन्हें मजबूरी में आना पड़ा। हालांकि वह 1 महीने के वीजा पर हिंदुस्तान आए थे लेकिन यहां उन्हें अच्छे हालात मिले जिसकी वजह से वह वापस नहीं गए। सरकार की तरफ से उन्हें फरीदाबाद में थोड़ी सी जगह दे दी जहां वह अब गुजारा कर रहे हैं।
इन परिवारों ने अबतक न्यूज़ पोर्टल टीम के साथ अपनी बातें सांझा करते हुए कहा कि मोदी सरकार ने उन जैसे तमाम लोगों के लिए एक बेहतरीन कदम उठाया है और अब वे भारतीय कहलाने का हक उन्हें मिल जाएगा। पाकिस्तान में उन पर हुए अत्याचारों को लेकर उनका कहना है कि वहां जबरजस्ती उन्हें धर्म बदलने के लिए प्रताड़ित किया जाता था। वहां हिंदू महिलाएं और बेटियां भी सुरक्षित नहीं हैं।



No comments

Powered by Blogger.