हादसे के लिए तीन चीजें जिम्मेवार होती हैं - एक अपराधी, दूसरा शिकार और तीसरा मौका: रेनू भाटिया

फरीदाबाद ( abtaknews.com ) 5 दिसम्बर, 2019: हरियाणा महिला आयोग की सदस्य रेणु भाटिया ने आज यहां एशियन अस्पताल में आयोजित जागरूकता कार्यक्रम में महिला सुरक्षा की जानकारी देकर महिलाओं को उनके अधिकारों से रूबरू कराया।श्रीमती भाटिया ने उपस्थित जनों को संबोधित करते हुए कहा कि किसी भी हादसे के लिए तीन चीजें जरूरी होती हैं - एक अपराधी, दूसरा शिकार और तीसरा मौका। इनमें से अगर एक भी न हो तो हादसा नहीं होता। इनमें सबसे आसान लेकिन जरूरी है मौका देने से बचना। इसके बाद आता है, खुद को शिकार बनने से रोकना और अपराधी से निबटना। इस दौरान श्रीमती भाटिया ने अस्पताल में कार्यरत महिला स्टाफ व मरीजों से मुलाकात कर जानना चाहा की कि कहीं उनके साथ अस्पताल में कोई दुव्यर्वहार तो नहीं हो रहा।
रेणु भाटिया ने महिलाओं को जागरूक करते हुए आगे बताया कि रास्ते से कोई भी प्राइवेट कैब लेने के बजाय उबर/ओला की टैक्सी करें और टैक्सी में सवार होने से पहले उसका फोटो लेकर अपने परिजनों को भेजें और चालक का नाम-पता भी मालूम करें। कैब या ऑटोवाले से भीड़वाले रास्तों पर ही चलने को कहें। रास्ता लम्बा बेशक हो, लेकिन जाना-पहचाना होना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर कोई व्यक्ति किसी महिला को दस सैकेंड से ज्यादा समय तक घूरे तो उससे सावधान रहें और कोई भी गलत हरकत करने पर तुरंत पुलिस को सूचित करें। साथ ही रात के समय में अंधेरे वाली जगहों से बचें। अपराधी ज्यादातर ऐसी ही जगहों पर ही अपना शिकार तलाशते हैं ताकि बचकर भागने में आसानी हो। ऑटो या टैक्सी का नंबर अपने मोबाइल में टेक्स्ट के रूप में तैयार रखें। थोड़ी भी गड़बड़ी लगे तो अपने किसी दोस्त या जानकार को नंबर एसएमएस कर दें। घर पहुंचने पर एक हाथ में घर की चाबी तो दूसरे में मोबाइल रखें। पुलिस और घर के नंबर स्पीड डायल पर रखें। अगर कोई हमला करें तो - हमलावर की आंखों पर डीओड्रेंट स्प्रे करें। कुछ देर के लिए वह आंखें नहीं खोल पाएगा और आपको अगला कदम उठाने का मौका मिल जाएगा। एयर-फ्रेशनर व परफ्यूम को भी इसी तरह इस्तेमाल कर सकती हैं। पिपर स्प्रे (मिर्च का स्प्रे) रखें। थोड़ा भी शक होने पर तुरंत निकालकर हाथ में थाम लें। जरूरत पड़े तो हमलावर की आंखों पर निशाना लगाकर स्प्रे करें। मोबाइल में पुलिस का नंबर जरूर सेव रखें और अंदेशा होने पर तुरंत उसे डायल करें।
श्रीमती भाटिया ने कहा कि हर उस स्कूल, कालेज, अस्पताल व कार्यालय में आईसीसी कमेटी का गठन जरूरी है जहां महिलाओं की उपस्थिति है। उन्होंने कहा कि महिलाएं अपने साथ हुए अपराध की सूचना किसी भी थाने चौकी में दर्ज करा सकती हैं, चाहे वह उस क्षेत्र में न हो जहां घटना घटी हो।उन्होंने कहा कि जब से अनिल विज प्रदेश के होम मिनिस्ट बने हैं उन्होंने भी महिला सुरक्षा को लेकर पुलिस को सख्त निर्देश दिए हैं और महिला आयोग ने भी पुलिस को महिला अपराधों को रोकने के सख्त निर्देश दिए हैं और लापरवाही बरतने वाले अफसरों के विरुद्ध महिला आयोग कार्यवाही करेगा।


No comments

Powered by Blogger.