भगवान की शरण में जाने वाले व्यक्ति के सभी दुख दर्द दूर होते है- रवीन्द्र आचार्य

फरीदाबाद (Abtaknews.com)28दिसंबर, 2109: श्रीराम मंदिर तालाब वाली गली ओल्ड फरीदाबाद में आयोजित श्रीमद़ भागवत कथा में कथा व्यास परम श्रद्वेय काष्र्णि रवीन्द्र आचार्य जी महाराज ने  देवहूति कदर्भ विवाह एवं श्री कपिलावतार का सुन्दर वर्णन प्रस्तुत कर वहां मौजूद सभी भक्तों को भाव विभोर कर दिया। रवीन्द्र आचार्य जी महाराज ने कहा कि संसार में लोगों को तारने के लिए लोगों को उपकार करना चाहिए। उन्होनें बताया कि उपकार के साथ अपने जीवन का लक्ष्य परम धर्म यानि की भागवत् में जीना चाहिए क्योकि भागवत ही भगवान श्री कृष्ण का स्वरूप है जोकि स्वंय श्रीकृष्ण के स्वरूप से सभी को कलियुग में दर्शन कराके मोक्ष देने वाली है। उन्हानें कहा कि मनुष्य को ईमानदारी से धर्म का पालन करना चाहिए तभी वह सभी सुख सुविधाओं से परिपूर्ण हो सकता है। उन्होनें कहा कि भगवान की शरण में जाने वाले व्यक्ति के सभी दुख दर्द दूर होते है। इस मौके पर महिलाओं ने भागवत् की 108 परिक्रमा भी की। इस अवसर पर पंडित मुरारी लाल बृजवासी ने कहा कि भागवत् की परिक्रमा करने से घर में सुख शांति,धन प्राप्ति,रोग निवृति व गृह कलेश दूर होते है। इस मौके पर रेनू मल्होत्रा,रेखा सिंगला,दीप्ती शर्मा,राधा,निशा,सुधा व पुष्पा शर्मा,रूबी,अमित कपूर,संगीता शर्मा अजय गर्ग,कृष्ण कान्त आर्य,ओमप्रकाश मंगला,शिव कुमार डालमिया, अमित कपूर,यशंवत शर्मा,ऋषभ बजाज,हेमंत शर्मा,जगदीश विरमानी,ओमप्रकाश मदान,अमित कपूर,सुमित कपूर,परविन्द्रर मल्होत्रा(शंटी),सचिन शर्मा,अनिल मदाननरेश कुमार खन्ना,देशू खन्ना,अशोक ढीगड़ा,संजय टूटेजा,लोकेश शर्मा,उमा शर्मा आदि भक्त उपस्थित थे।

No comments

Powered by Blogger.