Sunday, December 22, 2019

कर्मचारियों की माँगे नही मानी गई तो प्रदेश में होगी निर्णायक हड़ताल: सुनील खटाना

फरीदाबाद(Abtaknews.com)22 दिसंबर, 2019: हरियाणा स्टेट इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड वर्कर यूनियन द्वारा प्रदेश कर्मचारीयों की राज्यस्तरीय मीटिंग बल्लभगढ़ की अग्रवाल धर्मशाला में फरीदाबाद सर्कल सचिव सन्तराम लाम्बा सहित चारों यूनिटों के प्रधान लेखराज चौधरी, कर्मवीर यादव, सुनील कुमार, विनोद शर्मा व जयभगवान, मदनगोपाल, वीरसिंह रावत, बृजपाल तँवर सचिवों की मौजूदगी में एचएसईबी वर्कर यूनियन के राज्य प्रधान श्री बिजेन्दर बेनीवाल की अध्यक्षता में आयोजित की गयी । जिसमे मंच का संचालन प्रदेश महासचिव श्री सुनील खटाना ने किया । हरियाणा प्रदेश के सभी जिलों से आये अपने कर्मचारियों का सर्कल फरीदाबाद यूनियन के साथियों ने जोरदार स्वागत किया । इस मौके पर हरियाणा प्रदेश के अलग-अलग सर्कलों से आये तमाम बिजली कर्मचारीयों ने भाग लेकर अपनी समस्याओं से कर्मचारी नेताओं को अवगत कराया । जिसमे उन्होंने प्रदेश की सरकार व बिजली विभाग के अधिकारियों पर अपनी लाम्बित पड़ी माँगों की अनदेखी का आरोप लगाया । इस मीटिंग में आगामी 08 जनवरी 2020 में होने वाली राष्ट्रव्यापी हड़ताल में भाग लेने के बारे में अपने-अपने विचार रखे व साथ ही प्रदेशस्तरीय आन्दोलनों को लेकर रणनीति तैयार की गयी । प्रदेश महासचिव सुनील खटाना ने आगामी आदोलनों की रूपरेखा के बारे में बताया कि कर्मचारियों की मुख्य माँगे जिनमे प्रदेश की सरकार ने 2004 के बाद से लगे कर्मचारियों के लिये बन्द की गई पुरानी पेन्शन नीति जिसकी जगह अब नई पेन्शन नीति जो थोपी है । इसका एचएसईबी वर्कर यूनियन कड़े शब्दों में भारी विरोध करती है । माननीय उच्च न्यायालय के जारी आदेशों के बावजूद भी कर्मचारियों को समान काम समान वेतनमान दाम ना देना, जोखिम कार्यों के अनुरूप रिस्क एलाउंस यानी जोखिम भत्ता ना दिया जाना, पंजाब के समान वेतनमान ना देना, बिजली कर्मचारियों को फ्री यूनिट एलाउंस ना देना, पूर्णतः कैशलेस सुविधा देना, विभाग में जिस प्रकार से ठेकेदारी प्रथा को बढ़ावा दिया जा रहा है इस पर अंकुश लगाना, कच्चे कर्मचारियों को ठेकेदार के मार्फ़त से हटाकर विभागीय रोल पर नियुक्त करना, एचआरए का लाभ जनवरी 2016 से देना, एक्सग्रेसिया पोलिसी में समय सीमा व उम्र की सीमा को हटाना, प्री मेच्योर पोलिसी जैसे काले कानून को तुरन्त प्रभाव से बन्द करना आदि मुख्य माँगों को प्रदेश सरकार व बिजली निगम जल्द लागू करे अन्यथा कर्मचारियों के आन्दोलनों में भारी विरोध का सामना आने वाले समय मे करना पड़ेगा । बिजली कर्मचारियों की राज्यस्तरीय इस मीटिंग में केन्द्रीय परिषद के नेता कृष्ण नैन, नरेंदर खोखर, राजकुमार सांगवान, मुकेश भ्याना, महेन्दर सिंह, दलबीर श्योराण, कृष्ण मलिक, सत्यवीर, शीशराम, रविन्दर यादव, बलदेव सिंह, वीरेंदर गोयत, राधाकृष्ण, त्रिलोकनाथ आदि सहित भारी संख्या में बिजली कर्मचारी इस मीटिंग में उपस्तिथ रहे । 

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages