Monday, December 2, 2019

भ्रष्टाचार विरोधी मंच ने अधिकारियों और पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप, सुनाई ऑडियो रिकॉर्डिंग

फरीदाबाद(abtaknews.com) 02 दिसंबर।  उस भ्रष्टाचार व घोटालों व हमारे साथ हुये अन्याय के बारे में जानकारी देना चाहते है, जो कि ग्राम पंचायत बदरपूर सैद के बारे में, ग्राम बदरपूर सैद के कुछ दबंग लोगों के बारे में, पंचायत विभाग के बारे में, खाद्य आपूर्ति विभाग के बारे में व पुलिस प्रशासन से सम्बंधित है। मैं सोनू सिंह पुत्र रणबीर सिंह निवासी गांव व पो. ओ. बदरपूर सैद, जिला व तहसील फरीदाबाद, हरियाणा का स्थाई निवासी हूँ व मौजूदा ग्राम पंचायत बदरपूर सैद मे मेम्बर हूँ ओर मुझ पर व मेरे परिवार पर पहले कभी किसी भी तरह का कोई अपराधिक मामला नहीं है, अतः मैं एक सामाजिक नागरिक हूँ। मुझे व मेरे परिवार को टॉचर(परेशान) कियाजा रहा है व डराया धमकाया जा रहा है ओर जान से मारने की धमकियां दी जा रही है और हमको मानसिक व शारीरीक रूप से परेशान किया जा रहा है, मैं ओर मेरा परिवार डिपरेशन मे है। उपरोक्त दोषियान से मुझे व मेरे परिवार को जान-माल का खतरा बना हुआ है, दोषियान कभी भी हमारे साथ कोई बडी वारदात कर सकते है व जान से भी मार सकते हैं।
ग्राम बदरपूर सैद कि मोजूदा पंचायत के भ्रष्टाचार के खिलाफ एक गुप्त सूचना दी थी, जिस पर अमल करते हुए सी. एम. विन्डो उडन दस्ते को साथ में लेकर डी.एस.पी. दिनेश यादव व बी.डी.पी.ओ. प्रदीप कुमार ने गांव बदरपूर सैद मे मोका मुआयना किया ओर पंचायत को दोषी पाया व 419848 रूपये का घपला उजागर हुआ जो कि 419848 रूपये की लागत से गांव बदरपूर सैद मे स्ट्रीट लाइटे लगनी थी व मोजूदा पंचायत पर थाना भूपानी मे मुकदमा नं. 255/17 जेर धारा406,409,420,467,468,471,130B IPC सेक्शन 7,13 भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत 27-06-17 को दर्ज हुआ, व मैने व मेरे भाई मोनू ओर समस्त ग्राम वासियों कि तरफ से कई लिखित शिकायतें मोजूदा पंचायत ग्राम बदरपूर सैद के खिलाफ दी गई जो कि साथ मे संगलन है।
इनका बदला लेने हेतु इन्होंने मेरे ऊपर भिन्न-भिन्न धाराओं में मुकदमे दर्ज करवा दिए और गांव में हुए एक छोटे से झगड़े के ऊपर मेरे ऊपर डकैती की धारा लगवा दी जो कि झगड़ा मेरे घर के सामने ही हुआ था। जिसकी वजह से मुझे मैं मेरे भाई को 3 महीने जेल काटनी पड़ी,  और जैसे ही हम जेल से बाहर आए उसी दिन हमारे ऊपर एक और मुकदमा दर्ज करवा दिया। मैं बताना चाहता हूं कि शिकायतकर्ता ग्राम पंचायत के साथ मिलकर पूरा राशन नहीं बाटते है ओर ये सभी भ्रष्ट लोग अब तक करोड़ों रूपयों का घपला कर चुके है। 
मौजूदा पंचायत ग्राम बदरपूर सैद, पंचायत विभाग व खाद्य आपूर्ति विभाग ओर पुलिस प्रशासन थाना भूपानी, फरीदाबाद इन सभी के खिलाफ किसी ईमानदार उच्च अधिकारी द्वारा निष्पक्ष जांच कराई जाये व दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कानूनी कार्यवाही कि जाये ताकि मेरे परिवार कि तरह कोई ओर इन भ्रष्ट लोगों का शिकार ना हो, अतः मुझे व मेरे परिवार को इन सभी भ्रष्ट लोगों से जान-माल का खतरा बना हुआ है। मेरी व मेरे परिवार की जान-माल कि सुरक्षा की जाये व मैं ओर मेरा परिवार सरकार से न्याय की गुहार करता है कि हमें न्याय दिलाया जाये। प्रेस कॉन्फ्रेंस में पदमश्री डॉक्टर ब्रह्मदत्त व सामाजिक कार्यकर्ता वरुण श्योकंद भी शामिल हुए। उन्होंने दो ऑडियो रिकॉर्डिंग भी मीडिया को सुनाई जिसमें एक बहादुर नाम का एएसआई 60 हजार रूपये व  20 हजार रूपये रिश्वत की मांग करता हुआ स्पष्ट सुनाई दे रहा था। उसने यह पैसे सोनू मोनू के ऊपर दर्ज मामलों में मदद करने के नाम पर मांग रहा था। वरुण ने यह ऑडियो सभी पत्रकार बंधुओं को दी व  माननीय मंत्री अनिल विज व कमिश्नर फरीदाबाद के पास भी भेजी। उन्होंने बताया कि किस तरह पुलिस पूरी तरह भ्रष्टाचार में लिप्त होकर भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाने वालों के खिलाफ ही कार्रवाई कर रही है राजनीतिक व पैसे के दबाव में। उन्होंने कहा कि कमिश्नर को जल्द से जल्द इन पुलिसवालों के खिलाफ भ्रष्टाचार की धाराओं में मुकदमा दर्ज करना चाहिए और सभी मुकदमों की विस्तृत जांच करानी चाहिए।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages