वीरांगना महारानी अवंतीबाई लोधी चौक पर परम श्रद्धेय त्यागमूर्ति मानव रत्न स्वामी ब्रह्मानंद की 125 जयंती पर श्रद्धांजलि

फरीदाबाद (abtaknews.com ) 05 दिसम्बर, 2019 : लोधी राजपूत जनकल्याण समिति द्वारा अमर शहीद वीरांगना महारानी अवंतीबाई लोधी चौक पर परम श्रद्धेय त्यागमूर्ति मानव रत्न स्वामी ब्रह्मानंद की 125 जयंती का कार्यक्रम का आयोजन किया गया। लोधी राजपूत जन कल्याण समिति के संस्थापक लाखन सिंह लोधी ने जानकारी देते हुए कहा कि स्वामी जी का जन्म 4 दिसंबर 1895 को हुआ था। उन्होंने युवा अवस्था में हरिद्वार हर की पौड़ी पर सन्यास धारण करते हुए भीष्म प्रतिज्ञा की थी कि जीवन पर्यान्त धन को नहीं छुएंगें, स्त्री गमन भी नहीं करेंगे और उसे निभाया। स्वामी जी ने 1966 में हमीरपुर राठ से सांसद बने और 1967 में पुन: सांसद बनने के बाद संसद में सबसे पहले गौरक्षा कानून बनाने का सफल प्रयास किया एवं बुंदेलखंड के मालवीय माने जाने वाले स्वामी जी ने उस पिछड़े क्षेत्र में शिक्षा के डिग्री कॉलेज, संस्कृत विद्यालय और इंटर कॉलेज खुलवाएं। इन्होंने अपनी सांसद निधि सदैव गरीबों और शिक्षण संस्थाओं को दान देते रहे एवं स्वयं भिक्षा कर भोजन करते थे। सबसे पहले गरीबों, पिछड़े, हरिजनों, असहायों की आवाज उठाने वाले सांसद बने।
जयंती कार्यक्रम में अलग-अलग सामाजिक, धार्मिक, राजनीतिक संगठनों, अखिल भारत हिंदू महासभा के प्रदेशाध्यक्ष भुवनेश्वर शर्मा, जगविजय वर्मा, अखिल भारतीय ब्राह्मण सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुरेन्द्र शर्मा बबली, मानव जनहित एकता परिषद से जिला अध्यक्ष हनी बक्शी, लोधी राजपूत जन कल्याण समिति के अध्यक्ष रूप सिंह लोधी, धर्मपाल सिंह लोधी, ओंकार सिंह लोधी, नंदकिशोर लोधी, कंचन सिंह राजपूत, होती लाल लोधी, विजयपाल लोधी, महेंद्र सिंह लोधी, जागेश्वर लोधी, राजकुमार लोधी,  आदि ने अपने-अपने विचार व्यक्त किए।



No comments

Powered by Blogger.