Monday, November 18, 2019

अपनी जान जोखिम में डालकर प्रदेश को रोशन कर रहे हैं बिजलीकर्मी: सुनील खटाना प्रान्तीय महासचिव

फरीदाबाद(abtaknews.com) 18नवंबर,2019: प्रदेशस्तरीय कर्मचारियों की लाम्बित माँगों निजीकरण, ठेकेदारी प्रथा, समय से पूर्व जबरन सेवानिवृत पोलिसी, श्रम कानूनों का उलंघन, पुरानी पेन्शन बहाली व एच.आर.ए. का लाभ जनवरी 2016 दिया जाये। हरियाणा राज्य बिजली बोर्ड वर्कर यूनियन के प्रान्तीय प्रधान बिजेन्दर बेनीवाल, महासचिव सुनील खटाना, मुख्यसंगठंनकर्ता श्री महावीर पहलवान सहित नवगठित प्रदेश कार्यकारिणी ने आज बल्लभगढ़ यूनिट दवारा आयोजित मान सम्मान कार्यक्रम में भाग लिया। यूनिट प्रधान कर्मवीर यादव व सचिव मदनगोपाल शर्मा व उनकी समस्त कार्यकारिणी ने केन्द्रीय परिषद के सभी नेताओं का गर्मजोशी से स्वागत किया। इस अवसर पर प्रान्तीय प्रधान बिजेन्दर बेनीवाल ने हरियाणा सरकार से प्रादेशिक कर्मचारियों की लाम्बित पड़ी माँगों को तुरन्त प्रभाव से यथाशीघ्र लागू करने को लेकर जिसमे बिजली विभाग में आयेदिन बिजली लाइनों से बढ़ते हादसों से संज्ञान लेते हुए जोखिम भत्ते देने की माँग, आउटसोर्सिंग पर लगे कच्चे कर्मियों को नियमित ( रेग्युलर ) पोलिसी के तहत नियुक्त करने, एनपीएस स्कीम यानी न्यू पेन्शन प्रणाली को पूर्णतः समाप्त करके फिर से पुरानी पेन्शन प्रणाली जारी करने, प्रदेश के कर्मचारीयों को समान काम समान वेतनमान देने का लाभ आदि अनेकों मुख्य माँगे देने को कहा। कार्यक्रम में मौजूद कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए प्रान्तीय महासचिव श्री सुनील खटाना ने कहा कि एक्सग्रेसिया पोलिसी का लाभ सरकार को कच्चे पक्के सभी कर्मचारियों को बिना किसी भेदभाव के दिया जाना चाहिये, बिजली निगम में खाली पड़े हज़ारों रिक्त पदों को जल्दी भरने का काम करे । 01 नवम्बर 1966 को जब हरियाणा प्रान्त अपने वजूद में पंजाब से अलग होकर आया था। उस समय बिजली विभाग में लगभग 55 हज़ार बिजली कर्मचारी काम किया करते थे । तब हरियाणा प्रदेश में भिन्न भिन्न श्रेणी के बिजली कनेक्शनों की संख्या लगभग 05 लाख हुआ करती थी । जबकि अब के मौजूदा हालात इसके विपरीत दशा में हैं। जो किसी से छुपे नही हैं। आज प्रदेश में कर्मचारियों की संख्या घटकर लगभग 22 हजार रह गई है। और प्रदेश में बिजली कनेक्शनों की संख्या लगभग 68 लाख के आँकड़े को अब तक पार कर गई है । कर्मचारी अभाव के रहते इन बदतर हालातों में आज बिजली कर्मचारी दिन-रात अपनी जान को जोखिम में डालकर पूरे प्रदेश को रोशन करने का काम जोखिमता से कर रहा है । जबकि बिजली विभाग को सुचारू रूप से चलाने के लिये सरकार बेरोजगार युवाओं की इस महकमे 01 लाख खाली रिक्त पदों पर अतरिक्त भर्तियाँ करके युवाओं के रोजगार के सपनों को व इस महकमे को पूरी तरह स्थाई भर्ती से मजबूत करने का काम कर सकती है । पर जरूरत है तो प्रदेश की सरकार को तुरन्त प्रभाव से इस ओर तेजी गति से काम करने की। यदि प्रदेश सरकार कर्मचारियों की इन माँगों को गम्भीरता से नही लेती है । तो हरियाणा स्टेट इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड वर्कर यूनियन कर्मचारी हितों को ध्यान में रखते हुए आने वाले समय मे पूरे प्रदेश में जबर्दस्त आन्दोलन करने को बाध्य होगी । इस अवसर पर फरीदाबाद सर्कल सचिव सहित यूनिट के चारों प्रधान व सचिव एवं मुख्यरूप से मुकेश भ्याना, जगदीश बघेल, रविन्दर यादव, कृष्ण नैन, जयवीर सिंह राठी, लाखनसिंह, महेन्दर, वीरसिंह, बलबीर, सन्तराम लाम्बा, विनोद शर्मा, लेखराज चौधरी, मुकेश, राजबीर, सुनील चौहान, सत्यप्रकाश, ठाकुर राजाराम, श्यामसिंह, सुखबीर, राकेश, बिसनदेव, सियाराम, विजय, जिलेसिंह, माँगेराम आदि कर्मचारी नेताओं सहित भारी सँख्याबल में बिजलीकर्मी कार्यक्रम में मौजूद रहे । 

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages