Monday, November 11, 2019

कर्मचारियों पर थोपी गई प्रीमेच्योर रिटायरमेंट पॉलिसी बरदास्त नहीं होगी: सुनील खटाना

फरीदाबाद(Abtaknews.com)11नवंबर, 2019: एचएसईबी वर्कर यूनियन की मीटिंग 2 ए, इंडस्ट्रीयल एरिया एनआईटी फरीदाबाद पर हुई । जिसमें प्रदेश महासचिव सुनील खटाना की अध्यक्षता में यह मीटिंग सम्पन्न हुई । मंच का संचालन फरीदाबाद के सर्कल सचिव सन्तराम लाम्बा ने किया । जिसमे कर्मचारियों से सम्बंधित अनेक गम्भीर मुद्दों पर मन्त्रणा की गई । जिसमें सरकार द्वारा कर्मचारियों पर थोपी गई प्रीमेच्योर रिटायरमेंट पॉलिसी मुख्य मुद्दा रही । प्रांतीय महासचिव सुनील खटाना ने बताया कि प्रीमेच्योर रिटायरमेंट पॉलिसी के नाम पर यह सरकार जो नियम लागू करने जा रही है तथा सरकार द्वारा इससे भ्र्ष्टाचार पर रोक लगाने वाले कदम के तौर पर प्रचारित किया जा रहा लेकिन एचएसईबी वर्कर यूनियन का मानना है कि यह पॉलिसी कर्मचारियों पर दबाव बनाकर अपने राजनेताओं की कोठियों पर हाज़िरी लगाने के लिये लाई गई है । इस पॉलिसी के लागू होने के बाद राजनेताओं द्वारा कर्मचारियों को सीधे सीधे उनके माध्यम से धमकियां दी जाने लगेगी । कि ज्यादा कानून का पूतला मत बन या फिर रिटायमेंट के लिये तैयार हो जा । अगर यह पॉलिसी लागू होती है तो कर्मचारी कार्यालय व आमजन के कामों की बजाय इन राजनेताओं की हाजी में व्यस्त रहेंगे । जिससे जन सेवा का काम चरमरा जायेगा । इस ब्लैकमेलिंग के चलते कर।चारी राजनीतिक तौर पर निष्पक्ष होकर तथा नियमानुसार जनहित में अपनी सेवायें नही दे पायेंगे । वह केवल सरकारी खर्चे पर इन राजनेताओं के राजनीतिक कार्यकर्ता ही बन कर रह जायेंगे । बहुतायता में ऐसा देखने को मिलता है कि राजनेताओं के कहने पर गलत काम ना करने तथा अधिकारियों की नियम विरुद्ध स्वार्थ सिद्धि पूरी ना करने पर कर्मचारियों की एसीआर खराब कर दी जाती है । तथा फर्जी मुकदमे भी दर्ज कर दिये जाते हैं । जो कि बाद में अदालत में फर्जी साबित होते हैं । अदालत के अधिकारों को दरकिनार करते हुए यह जो समानन्तर कर्मचारियों को प्रताड़ित करने की ब्लैकमेल करके गलत काम करवाने की इस पॉलिसी के माध्यम से जो व्यवस्था सरकार करने जा रही है । उसका एचएसईबी वर्कर यूनियन पुरजोर विरोध करती है ।अगर तुरन्त प्रभाव से सरकार ईद पॉलिसी को वापस नही लेती है । तो एचएसईबी वर्कर यूनियन इसके विरोध में बड़े से बड़ा आन्दोलन करने से भी पीछे नही हटेगी । जिसमे राज्यव्यापी धरना प्रदर्शन या अनिश्चितकालीन हड़ताल भी हो सकती है । इस मीटिंग में उपस्तिथ बिजली कर्मचारी प्रधान लेखराज चौधरी, विनोद शर्मा, बृजपाल, कर्मवीर यादव, राजबीर, शेरसिंह, बृजपाल, वीरेंदर त्यागी, वेद प्रकाश, मुकेश, सोनू, अज़ादसिंह, ईश्वरसिंह, अशोक राठी, रामेन्द्र, सुनील चौहान, गिरेन्द्र, जय भगवान, राजेश, नरेश, कुलदीप, जिले, वीरसिंह हरिनिवास आदि काफी संख्या में कर्मचारी मौजूद रहे । 

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages