Monday, November 4, 2019

फरीदाबाद के वकीलों ने तीस हजारी पार्किंग विवाद मामले में पुलिस प्रसासन के खिलाफ की नारेबाजी

फरीदाबाद(abtaknews.com) 04 नवंबर,2019: तीस हजारी कोर्ट में पार्किंग विवाद के चलते वकीलो और पुलिस में भिडंत हुई इसमें दर्जनो वकील घायल हुए इस झगडे को लेकर आज बॉर काउंसिल ऑफ इन्डिया के आदेश पर जिला न्यायालय फरीदाबाद में वकीलो ने हडताल कर दी। सैकडो वकील सुबह 10 बजे ही लॉबी में कुर्सिया बिछा कर बैठ गए और बार एकता जिन्दाबाद व पुलिस प्रसासन दिल्ली मुर्दाबाद के नारे लगाते रहे। बार एसोसिएसन फरीदाबाद के जनरल सैक्टरी नरेन्द्र पारासर व सिनियर वाईज प्रैजिडेन्ट नीरज सचदेवा ने बैठक कर सभी कोर्टघ्रूमो में हडताल की सूचना दी। ज्ञात हो कि एक वकील की कार दिल्ली तीस हजारी कोर्ट में जेल वैन से टकरा गई थी इस पर पुलिस ने वकीलो को लॉकअप में लेजा कर पीटा। छ जजो के कहने पर भी पुलिस ने वकीलो को बहार नही निकाला । पुलिस ने कईघ्राउंड गोलिया चलाई जिसमें एक वकील को गोली लगी। वरिष्ठ अधिवक्ता शिवदत्त वशिष्ठ ने कहा कि पुलिस ने चैम्बरो में जाकर भी दर्जनो वकीलो को लाठी डन्डो से मारा। सभी अधिवक्ताओ ने पुलिस इस कार्यवाही की निन्दा की और पुलिस के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही करने की मांग की इस मौके पर बार कांउसिल के पूर्व सदस्य ओ$पी$ शर्मा, जे$पी$ अधाना, सतेन्द्र भडाना, एम$एस$ नागर, अनील पारासर जोगिन्द्र चौहान, आर$पी$ नाहर, कंवर दलपत ंिसह, राधे श्याम पारासर, आर$सी$ पारासर, अजय दत्त पारासर, सचिन चंदीला, अनील कुमारी, मनमीत कौर, भानूप्रीया, हंसराज, लक्की सिंगला संदीप पारासर, सुखराम जाखड, प्रेम भारद्वाज सतपाल नागर, कुलदीप जोशी, हरदीप बिसोया आदि सैकडो अधिवक्ता मौजूद थे।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages