Wednesday, November 20, 2019

हादसों का शहर बनता जा रहा है फरीदाबाद, हर रोज रोज हर मोड़ पर होता है कोई न कोई हादसा,,पढ़िए पूरी खबर---

फरीदाबाद (Abtaknews.com) 20 नवंबर,2019 : एक के बाद एक घटना से देहला फरीदाबाद।  शहर में बुधवार की सुबह से ही कई घटनाए घटी हैं जिनमें सबसे पहले 3:30 बजे बाटा फ्लाईओवर से पहले शोरुम के सामने दो ट्रकों की टक्कर के बाद इसमें एक चालक ट्रक में बुरी तरह फंस गया इसके बाद पांच नंबर में 'अमृत जल' के पास पंचर लगाने वाले सुभाष नामक व्यक्ति को 7:15 बजे बाइक सवार दो युवकों ने गोली मारकर हत्या कर दी। तीसरी घटना गुरुग्राम से फरीदाबाद सब्जी लेकर आ रहे टेंपो में पीछे से अज्ञात वाहन चालक ने टक्कर मार दी जिसके चलते सब्जी विक्रेता नरेंद्र पुत्र रामपाल की मौत हो गई।  

फरीदाबाद पांच नम्बर इलाके में पंचर लगाने वाले मजदूर दुकानदार को भोर होते ही दो युवकों ने गोलियों से भून दिया, बाईक सवार हमलावरों ने दुकानदार पर उस वक्त हमला किया जब वह अपनी दुकान खोलने की तैयारी कर रहा था, तभी हमलावर पीछे से गोली दागकर फरार हो गये, मौके पर मौजूद चश्मदीद चाय वाले ने आनन फानन में घायल दुकानदार सुभाष को सिविल अस्पताल  तक पहुंचाया जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने पूरे मर्डर केस की जांच शुरू कर दी है। फिलहाल परिजनों ने बताया कि जमीनी विवाद के चलते सुभाष को गोली मारी गई है।
फरीदाबाद में एक बार फिर बेखौफ बदमाशों ने वरदातों को अंजाम देना शुरू कर दिया है, पिछले 10 दिनों में आधा दर्जन से ज्यादा सरेआम मर्डर की वारदातें सामने आई हैं। जिसमें आज सुबह भोर होते ही सरेआम हुई मर्डर की घटना भी शामिल हो गई है, एनआईटी के पांच नम्बर अमृतजल क्षेत्र के पास पंचर की दुकान लगाने वाले सुभाष को बाईक सवार दो युवकों ने गोली मार दी। चाय की दुकान लागने वाले चश्मदीद राजेन्द्र ने बताया कि मृतक सुभाष अपनी दुकान खोलने की तैयारी कर रहा था और उसने चाय बनाने के लिये मुझे बोला, मै जैसे ही चाय बनाने के लिये घूमा तभी बाईक पर आये दो युवकों ने सुभाष को पीछे से गोली मार दी।
मृतक सुभाष के परिजन बेटा राहुल और भतीजी रूबी ने बताया कि उनका एक जमीनी विवाद चल रहा है, जिसको लेकर पहले भी उनका रिश्तेदारों के साथ झगडा हुआ था, उन्हें शक है कि उनके रिश्तेदारों ने ही इस मर्डर को अंजाम दिया है। पुलिस इस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है, जांच के बाद ही पूरे मामले की सच्चाई सामने आयेगी।

समाजसेवी संतोष यादव का कहना है कि जब तक अवेध शराब माफिया, ब्याजमाफ़िया, भूमाफिया और सट्टेबाज शासन प्रशासन पर हावी रहेंगे तब तक घटना होती रहेगी। 

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages