नर्सरी दाखिले में नियमों का उल्लंघन - एडवांस में वसूल रहे हैं हजारों रुपए


फरीदाबाद(Abtaknews.com)18 नवंबर,2019: आगामी शिक्षा सत्र की पढ़ाई  1 अप्रैल 2019 से होनी है, लेकिन स्कूल प्रबंधक उसके लिए अभी से बच्चों को दाखिला देकर एडवांस में हजारों रुपए वसूल रहे हैं| अभिभावक एकता मंच ने कहा है कि जिस जिले में फीस एंड फंड रेगुलेटरी कमेटी  एफएफआरसी का चेयरमैन बैठा हुआ है उसमें स्कूल प्रबंधक सरेआम नियमों का उल्लंघन करके छात्र व अभिभावकों का आर्थिक व मानसिक शोषण कर रहे हैं| मंच ने इसकी शिकायत कई बार चेयरमैन एफएफआरसी से की है लेकिन प्राइवेट स्कूलों की सशक्त लावी के दबाव में दोषी स्कूलों खिलाफ कोई भी उचित कार्यवाही नहीं की गई है| मंच ने अब मजबूर होकर मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री, शिक्षा सचिव व चेयरमैन सीबीएसई को पत्र लिखकर एफएफआरसीका की कार्यशैली व दोषी स्कूलों के द्वारा की जा रही मनमानी की शिकायत करके उचित कार्रवाई करने की मांग की है | अभिभावक एकता मंच के प्रदेश महासचिव कैलाश शर्मा कहा है कि प्राइवेट स्कूल प्रबंधक आगामी शिक्षा सत्र 2020 -21 के लिए नर्सरी केजी में दाखिला देखकर एडवांस में हजारों रुपए अभिभावकों से वसूल रहे हैं | सीबीएसई व हरियाणा शिक्षा नियमावली के नियमों का उल्लंघन करके कक्षा एक से पहले की प्राथमिक कक्षाओं में दाखिला अपनी मर्जी से बनाए गए नियमों के तहत दे रहे है और 1 अप्रैल 2020 से शुरू होने वाली कक्षाओं के लिए अभी से ट्यूशन फीस व अन्य गैरकानूनी फंडों में 50000 से लेकर सवा लाख रुपए एडवांस में अभिभावकों से  वसूल रहे हैं | मंच का कहना है कि स्कूल प्रबंधकों ने प्री नर्सरी ,नर्सरी, केजी, एलकेजी नाम से 4-5 क्लास बना रखी है, जब कि नियम है कि कक्षा 1 से पहले सिर्फ 2 क्लास में पढ़ाई होनी चाहिए| मंच ने सेंट कार्मेल, एमबीएन, एपीजे, डीपीएस, सेंट Albus, डीएवी, एंथोनी, मानव रचना, ग्रैंड कोलंबस, मॉडर्न डीपीएस सहित 25 प्राइवेट स्कूलों द्वारा की जा रही इस मनमानी की शिकायत की है और इन स्कूलों के खिलाफ उचित कार्रवाई करने की मांग की है| कैलाश शर्मा ने बताया कि जिन बच्चों का स्कूल में चयन हो गया है उनके अभिभावकों को सर्कुलर भेज कर कहा जा रहा है कि वे आगामी शिक्षा सत्र के लिए किए गए दाखिले में एडवांस में पैसे  जमा कराएं, यह भी लिखा जा रहा है कि किसी भी हालत में एडवांस में जमा कराई गई  फीस व फंड वापस नहीं की जाएगी|  जिन अभिभावकों ने अपने बच्चे के दाखिले में  एक स्कूल में एडवांस में  पैसा जमा करा दिया है  और बाद में उसके बच्चे का दाखिला उसके घर के नजदीक के स्कूल मैं हो गया है तो वह उसमें दाखिला कराना चाहता है, ऐसी स्थिति में पिछला स्कूल उस अभिभावक को मांगने पर उसके जमा कराए गए पैसे को  वापस नहीं कर रहा है|  ऐसे ही एक मामले में एक अभिभावक ने ग्रेटर फरीदाबाद स्थित डीपीएस स्कूल के खिलाफ चेयरमैन एफएफआरसी को अक्टूबर में शिकायत की थी लेकिन उस पर अभी तक कोई उचित कार्रवाई नहीं की गई है| मंच ने अभिभावकों से कहा है कि वे प्राइवेट स्कूलों की इस मनमानी का एकजुट होकर विरोध करें और मंच के जिला कार्यालय लॉयर्स चेंबर 56 जिला कोर्ट फरीदाबाद में शिकायत दर्ज कराएं।

No comments

Powered by Blogger.