Saturday, October 19, 2019

प्रचार के अंतिम दिन नयनपाल के लिए उमड़ा अपार जनसैलाब

फरीदाबाद(abtaknews.com)19 अक्टूबर। चुनाव प्रचार के आखिरी दिन पृथला विधानसभा क्षेत्र के पंचायती उम्मीदवार नयनपाल रावत ने चंदावली स्थित कार्यालय पर एक विशाल जनसभा का आयोजन करके अपना शक्ति प्रदर्शन किया। इस जनसभा में पृथला क्षेत्र के 104 गांवों की मौजिज सरदारी के साथ-साथ समाज की छत्तीस बिरादरी के गणमान्य लोगों ने हजारों-हजारों की तादाद में उपस्थित होकर एक स्वर में नयनपाल रावत को विधानसभा भेजने का ऐलान कर दिया। श्री रावत की इस विशाल जनसभा को देख इस क्षेत्र के दूसरे प्रत्याशियों के हौंसले पूरी तरह से पस्त हो गए है।
जनसभा में आए हजारों-हजारों की भीड़ को संबोधित करते हुए पंचायती उम्मीदवार नयनपाल रावत ने कहा कि उनके एक बुलावे पर आज पृथला क्षेत्र का पूरा परिवार उनके साथ खड़ा हो गया है, जिसके लिए वह इस छत्तीस बिरादरी के ताउम्र ऋणी रहेंगे और जो संघर्ष उन्होंने शुरु किया है, उस संघर्ष का अब आखिरी पड़ाव है, इसलिए क्षेत्र का हर व्यक्ति, हर युवा, हर बुजुर्ग, हर माता को खुद को नयनपाल रावत मानकर वोट करना है। उन्होंने कहा कि आपके बेटे के बढ़ते जनाधार से दूसरे दल के प्रत्याशियों के होश फाख्ता होने लगे है इसलिए वह तरह-तरह के औछे हथकंडे अपनाकर उनका चुनाव बिगाडऩा चाहते है परंतु यह लोग यह नहीं जानते कि यह चुनाव नयनपाल नहीं बल्कि नयनपाल के रुप में पृथला क्षेत्र की जनता लड़ रही है। उन्होंने मंच से युवाओं से कहा कि वह अपने बूथ पर पूरी मजबूती के साथ जुटे रहे और एक-एक वोट उनके पक्ष मेेंं दिलवाने का काम करें वहीं उन्होंने जनसभा में आई महिला शक्ति से कहा कि मतदान के दिन वह चूल्हा चौखा छोडक़र पहले अपने बेटे को वोट दें उसके बाद खाना बनाए। रावत ने कहा कि पिछले 15 सालों तक उन्होंने इस क्षेत्र में एक बेटा की तरह सेवा की है और लोगों के सुख-दुख में अपनी भागेदारी निभाई और यहां की जनता ने भी उन्हें बहुत प्यार दिया है इसलिए अब समय आ गया है, जब वोट की चोट से उन लोगों को जवाब दिया जाए, जिन्होंने षडयंत्र रचकर पृथला क्षेत्र की मौजिज सरदारी का अपमान करने का काम किया है। जनसभा में पूर्व जजपा प्रत्याशी एवं वरिष्ठ महिला नेत्री शशिबाला तेवतिया ने भी मंच के माध्यम से लोगों से आह्वान किया कि अब चुनाव आखिरी पड़ाव पर है और इस जनसभा से जाने के बाद हर मतदाता खुद को नयनपाल मानकर वोट करें तभी इस लड़ाई को जीता जा सकता है। जनसभा में नयनपाल रावत की धर्मपत्नी मोनिका रावत ने भी अपने संबोधन में लोगों से कहा कि वह इस आखिरी पड़ाव पर किसी के बहकावे में न आए और जो संघर्ष का रास्ता आपने चुना है, उसे अपने मुकाम तक पहुंचाए ताकि पृथला क्षेत्र का सही मायनों में विकास हो सके।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages