Monday, October 14, 2019

एनआईटी विस क्षेत्र के लोगों की परेशानियों को जानता हूं और निराकरण भी कर सकता हूं: नीरज शर्मा

फरीदाबाद(Abtaknews.com)14 अक्टूबर। एनआईटी 86 विधानसभा क्षेत्र से हाथ के चुनाव चिन्ह पर चुनाव लड़ रहे युवा उम्मीदवार नीरज शर्मा ने कहा कि उनका जन्म बेशक इसी एनआईटी 86 क्षेत्र में हुआ हो, लेकिन उनका परिवार उत्तर प्रदेश से यहां प्रवासी के तौर पर आकर बसा था और उनको यह पता है कि बाहर से आकर दूसरी जगह बसने पर परिवार को क्या-क्या परेशानी उठानी पड़ती है और किस तरह से एक जगह को छोडक़र दूसरी जगह आकर व्यक्ति अपने परिवार का पालन पोषण करता है। उन्होंने कहा कि मैं एनआईटी 86 विधानसभा क्षेत्र में रहने वाले एक-एक व्यक्ति की परेशानियों को जानता हूं और इसीलिए यह दावे के साथ कह सकता हूं कि मैं ही उन समस्याओं का निराकरण भी कर सकता हूं, क्योंकि पुरानी कहावत है जो तन लागे वो तन जाने। नीरज शर्मा ने आज अपने प्रचार के दौरान युवाओं का आह्वान किया कि युवाओं में वह ताकत होती है चट्टानों को हिला देते हैं हमें तो सिर्फ अपने हितों के लिए सत्ता परिवर्तन करना है।
नीरज शर्मा ने लोगो का आह्वान किया कि जिस प्रकार से पंडित शिवचरण लाल शर्मा ने 5 साल में इस क्षेत्र की सभी समस्याओं का निराकरण कर दिया था, उसी समस्या मुक्त एनआईटी 86 विधानसभा क्षेत्र की स्थापना करना उनकी प्राथमिकता होगी। 
नीरज शर्मा आज डबुआ कॉलोनी, नंगला गुजरान इंडस्ट्रीयल एरिया एवं डबुआ कॉलोनी में अपने जनसंपर्क अभियान के दौरान नुक्कड़ सभाओं को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर उनके साथ हरीशचंद, नैनचंद, कुलविंदर सिंह, श्रीनिवास शर्मा, प्रवीण प्रधान, प्रवीण हैलमेट वाले, बादल राणा, रोहताश शेखावत, भगवानदास, संदीप शर्मा, वरुण शर्मा, देशराज शर्मा, पंकज शर्मा, नीरज शर्मा, सुरेन्द्र शर्मा, ललित गोयल, राजपाल डांगी, जितेन्द्र राठी एवं अनिल शर्मा आदि लोग उपस्थित थे। नीरज शर्मा ने इस मौके पर कहा कि आपकी समस्याओं को आप ही समझ सकते हो और मैं आपका ही बच्चा हूं, इसलिए मुझे पता है कि किस गली में क्या समस्या है। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों में जिस प्रकार से आपने पंडित शिवचरण लाल शर्मा जी के प्रति अपना स्नेह और प्यार दिखाया है उसके लिए मैं आपका आभारी हूं, लेकिन साथ ही मैं आपको इस बात से सचेत भी करना चाहूंगा कि कुछ लोग रंग रूप बदलकर फिर से आपको ठगने की तैयारी में है। लेकिन अब आपको सजग रहने की जरूरत है और उन लोगों को यह बताने की जरूरत है कि काठ की हांडी एक बार चढ़ती है बार-बार नहीं। उन्होंने कहा कि पिछले 5 साल के नरकीय जीवन को याद रख कर आपको 21 अक्टूबर को हाथ के सामने वाला बटन दबाकर अपनी समस्याओं का निराकरण करना है। नीरज शर्मा ने उपस्थित लोगों को यह विश्वास दिलाया कि हाथ का बटन दबाने के बाद उनकी समस्याओं का निराकरण होना तय है और इस बात का प्रमाण उनको पंडित शिवचरण लाल शर्मा के शासनकाल में देखने को मिला भी था। उन्होंने स्पष्ट किया कि पंडित शिवचरण लाल शर्मा द्वारा शुरू किए विकास के कामों को पूरा करना ही उनके जीवन का ध्येय है और आप लोगों के आशीर्वाद से वह इस काम को निश्चित तौर पर कर पाएंगे।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages