Thursday, October 3, 2019

आचार संहिता लगने का जमकर फायदा उठा रहे हैं खनन माफियाः एडवोकेट पाराशर

फरीदाबाद(Abtaknews.com)03अक्टूबर,2019: न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष एवं बार एसोसिएशन के पूर्व प्रधान आज सुबह अरावली दौरे पर निकले तो फिर तो सरेआम जेसीबी से हो रहे खनन को देखकर वह आश्चर्यचकित रह गए
एडवोकेट पराशर ने बताया कि वह जब अरावली का दौरा कर रहे थे तो उन्होंने एक जगह जेसीबी से सरेआम खुदाई होते हुए देखा और उसका फोटो भी खींच लिया एडवोकेट पराशर ने कहा कि जहां हरियाणा में विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है आचार संहिता लग चुकी है , वहीं दूसरी तरफ मौका देखकर खनन माफिया सक्रिय हो चुके हैं और बड़े पैमाने  पर पत्थरों की खुदाई जारी है, एडवोकेट पराशर ने कहा कि यह सब प्रशासन की मिलीभगत से हो रहा है इसमें खनन विभाग के अधिकारी एवं नगर निगम के अधिकारी संलिप्त हैं,
प्रशासन ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की लाख आदेशों के बावजूद भी माफिया और भ्रष्ट अधिकारी बिना डर के सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की धज्जियां उड़ा रहे हैं, और अरावली पर पत्थरों का खनन लगातार जारी है उनकी लाख शिकायतों के बावजूद भी प्रशासनिक अधिकारी एवं जिला के उच्च अधिकारी इस खनन को नहीं रुकवा पा रहे हैं।
एडवोकेट प्रशासर ने कहा कि गुड़गांव सूरजकुंड रोड पर कहीं सरेआम रोड के किनारे ही पत्थरों को तोड़ने का काम चल रहा है, तो वहीं दूसरी तरफ सरेआम 2 जेसीबी पत्थरों को जमीन में से खोद कर बाहर निकाल रही हैं उनका कहना है कि क्या? यह सब प्रशासन की अनदेखी में हो रहा है या उनके भ्रष्ट अधिकारी खुद यह सब करवा रहे हैं ,उन्होंने बताया कि इसी तरह अवैध फार्म हाउस को तोड़ने की बजाय और नए निर्माण और नए फार्म हाउस तैयार किए जा रहे हैं,  जिसकी शिकायत व कई बार मुख्यमंत्री एवं आला अधिकारियों से कर चुके हैं एडवोकेट पराशर ने कहा कि अब इसकी शिकायत दोबारा से एनजीटी हरियाणा के मुख्य सचिव से कीहै
 एडवोकेट पराशर का कहना है कि साल बीत चुके हैं मुझे लगातार मीडिया के माध्यम से अवैध खनन और अवैध निर्माण अरावली पर होते हुए दिखाते हुए, लेकिन खनन विभाग के अधिकारी कुछ चंद मुकदमे दर्ज करा कर अपना पीछा छुड़ा लेते हैं और अरावली का खनन और अवैध निर्माण लगातार जारी है ,उन्होंने कहा कि वह अपनी लड़ाई जारी रखेंगे चाहे वह किसी हद तक ही क्यों ना हो, एडवोकेट पराशर ने कहा कि वे इन माफियाओं और भ्रष्ट अधिकारियों से कभी हार नहीं मानेंगे

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages