Tuesday, October 29, 2019

फ़रीदाबाद में भैया दूज की तर्ज पर नेपाली मूल के लोगो ने मनाया त्योहार " बहलू "

                 
                                                                                             फरीदाबाद (Abtaknews.com)29 अक्टूबर, 2019: में नेपाली मूलरूप के लोगो ने युगो से चलती आ रही " त्यौहार बहलू " प्रथा को फरीदाबाद में धूमधाम से मनाया।  इस मौके पर नेपाली मूल के प्रवासी लोगो ने पारम्परिक नेपाली गीतों पर नृत्य किया। वहीँ फरीदाबाद में रहने वाले प्रवासी नेपाली संघ के लोगो ने बताया की दीपावली के अगले तीन दिन तक नेपाल में त्यौहार बहलू उत्सव मनाया जाता है जिसमे बहन अपने भाई को तिलक लगाने के लिए आती है और पारम्परिक रूप से वह लोग इस प्रथा को युगो - युगों से मनाते आ रहे है। उन्होंने बताया की वह इस संस्कृति को लेकर फरीदाबाद के लोगो के बीच में दिखा रहे है वहीँ यहाँ रह रहे नेपाली मूल के प्रवासी जरूरतमंद लोगो के लिए लोगो से मदद की राशि भी ले रहे है।  उन्होंने बताया की वह मिली मदद की राशि को फरीदाबाद के सेक्टर 22 में स्थित नेपालियो के मंदिर में देते है जहाँ से यह राशि जरूरतमंद नेपाली प्रवासी लोगो तक पहुचायी जाती है।  

सभी नेपाली मूल के प्रवासी लोग जो  रोजी रोटी कमाने के लिए अपना देश छोड़कर नेपाल से भारत में रह रहे है. जिस तरह से भारत के लोग दीपावली के दो दिन बाद टीके का त्यौहार मनाती है लगभग उसी तरह नेपाली में तीन दिन तक " त्यौहार बहलू " के नाम से युगो से एक प्रथा चलती आ रही है जिसमे बहन भाई को टीका लगाती है और तीन दिन तक धूमधाम से नाचगाकर इस प्रथा को मनाया जाता है।  फरीदाबाद में रह रहे प्रवासी नेपाली संघ के लोगो ने बताया की दीपावली के अगले तीन दिन तक नेपाल में त्यौहार बहलू उत्सव मनाया जाता है जिसमे बहन अपने भाई को तिलक लगाने के लिए आती है और पारम्परिक रूप से वह लोग इस प्रथा को युगो - युगों से मनाते आ रहे है। उन्होंने बताया की वह इस संस्कृति को लेकर फरीदाबाद के लोगो के बीच में दिखा रहे है वहीँ यहाँ रह रहे नेपाली मूल के प्रवासी जरूरतमंद लोगो के लिए लोगो से मदद की राशि भी ले रहे है।  उन्होंने बताया की वह मिली मदद की राशि को फरीदाबाद के सेक्टर 22 में स्थित नेपालियो के मंदिर में देते है जहाँ से यह राशि जरूरतमंद नेपाली प्रवासी लोगो तक पहुचायी जाती ै।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages