Tuesday, October 1, 2019

दार्शनिक डॉ एम पी सिंह ने पलवल जेल में बंद कैदियों को सत्य अहिंसा का पाठ पढ़ाया

पलवल(abtaknews.com) 01अक्टूबर,2019:महात्मा गांधी जी की 150वीं जयंती के अवसर पर देश के महान शिक्षाविद समाजशास्त्री दार्शनिक डॉ एमपी सिंह ने पलवल जेल में अपराधों में जेल की सजा काट रहे कैदियों को सत्य अहिंसा का पाठ पढ़ाया तथा अपने जीवन में अमल में लाने के लिए कहा डॉ एमपी सिंह ने कहा कि ब्रिटिश सरकार ने स्वाधीनता आंदोलन को कुचलने के लिए रौलट एक्ट पास किया था जिसका विरोध करने पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को 10 अप्रैल 1919 को पलवल रेलवे स्टेशन से ब्रिटिश पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया बापूजी की गिरफ्तारी के बाद नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने पलवल में महात्मा गांधी सेवा आश्रम की नींव रखी और वहीं पर अपना धरना प्रदर्शन जारी रखा डॉ एमपी सिंह ने कहा कि पलवल जेल एक ऐतिहासिक जेल है और जेल के अंदर की दुनिया अलग होती है इसलिए अपराधियों को जेल से भागना नहीं चाहिए और ना ही आपस में लड़ाई झगड़ा करना चाहिए बीड़ी सिगरेट तंबाकू मादक पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए अपने तन की साफ-सफाई के साथ आसपास की साफ-सफाई का भी ध्यान रखना चाहिए कोर्ट में आने वाले गवाहों को डराना धमकाना उचित नहीं है इससे एक नए क्राइम का जन्म हो जाता है जिसके परिणाम ज्यादा बदतर देखने को मिलते हैं पैरोल पर आकर भी अपना रुतबा समाज में नहीं दिखाना चाहिए इससे आपके  चरित्र में गिरावट आती है  हमें सभी के सुख दुख का साथी होना चाहिए थोड़ी देर का गुस्सा पूरे घर को बर्बाद कर देता है इसलिए अपनी सूझबूझ का परिचय देना चाहिए जेल में रहकर मनन और चिंतन करना चाहिए ताकि आगे का जीवन सम्मानित हो सके और जेल अधिकारियों का सम्मान करना चाहिए अनुशासन को बनाए रखना चाहिए उनके दिशा निर्देशन में रहकर अपनी सजा को कम कराया जा सकता है जेल में कानून कारागार और कैदी तीनों का अलग अलग रोल है इस अवसर पर जेल के एसपी दीपक कुमार आईपीएस ने डॉ एमपी सिंह का स्वागत किया तथा डिप्टी एसपी जेल दिनेश यादव ने धन्यवाद किया अंत में अधिकतर कैदियों की काउंसलिंग भी देश के जाने-माने काउंसिल  डॉ एमपी सिंह के द्वारा की गई इस अवसर पर जेल चिकित्सा अधिकारी डॉ महेश पाल सहित अन्य स्टाफ भी मुख्य रूप से मौजूद रहे। 

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages