Thursday, September 12, 2019

मोदी के मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने पृथला में कई करोडों के विकास कार्यो के किए उदघाटन

पलवल(Abtaknews.com)12 सितंबर।केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने वीरवार को पृथला विधानसभा क्षेत्र के गांव दुधौला में 7 करोड़ 16 लाख 55 हजार रूपए की लागत से पृथला से धतीर जाने वाली सडक़ के निर्माण कार्य का शुभारंभ किया। इस अवसर पर पृथला विधानसभा क्षेत्र के विधायक टेकचंद शर्मा भी मौजूद थे।
केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने जर्जर सडक़ का निर्माण करने की घोषणा की थी, जिसका निर्माण कार्य शुरू हो गया है। उन्होंने कहा कि लगभग 6 किलोमीटर लंबाई वाली इस सडक़ को दोनों तरफ करीब डेढ़ मीटर तक चौड़ा किया जाएगा। सडक़ का सुधारीकरण करते हुए बिजली के खंबों को हटाया जाएगा। सडक़ के दोनों तरफ पानी की निकासी के लिए नालियां बनाई जाएगी। सडक़ के बीच में पडऩे वाले नालों का निर्माण किया जाएगा। राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने कहा कि वर्तमान सरकार में पृथला विधानसभा क्षेत्र के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ी गई है। प्रदेश सरकार ने क्षेत्र के विकास के लिए पूरी ग्रांट दी है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों में विकास कार्यो के लिए धनराशी लेने के लिए सरपंच मंत्रियों के आगे पीछे दौड़ते थे। उसके बावजूद भी विकास के लिए राशी नहीं दी जाती थी, लेकिन वर्तमान सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों का विकास करने के लिए पर्याप्त मात्रा में बजट दिया है। ग्राम पंचायतों के खातों में विकास के लिए करोड़ों रूपए की राशी जमा है। वर्तमान सरकार में ग्रामीण आंचल में स्कूल, कॉलेज, यूनिवर्सिटी, सडक़ बनाने का काम किया है।
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वर्तमान सरकार ने पंाच सालों में प्रदेश के 6700 गांवों में से 4 हजार से अधिक गांवों में 24 घंटे बिजली प्रदान की जा रही है। आगामी 6 महीने में पलवल जिले के सभी गांवों में 24 घंटे बिजली प्रदान की जाएगी। गांवों में बिजली देने के लिए बिजली विभाग ने टेंडर पास कर दिए है। रैनीवैल योजना के अंर्तगत पलवल व पृथला विधानसभा क्षेत्र के गांवों को पीने का मीठा पानी उपलब्ध करवाया जाएगा। रैनीवैल का यह कार्य 6 महीने में पूरा हो जाएगा। उन्होंनें कहा कि प्रदेश सरकार ने संकल्प लिया है कि गांवों से एक किलोमीटर की दूरी पर बसी ढ़ानियों में सरकारी खर्चे पर बिजली कनैक्शन व कई किलोमीटर दूर बसी ढ़ानियों को सोलर सिस्टम के माध्यम से बिजली उपलब्ध करवाई जाएगी।
पृृथला के विधायक टेकचंद शर्मा ने केंद्रीय मंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि दूधौला गांव में विकास कार्य बहुत तीव्र गति से हुए हैं। दूधौला गांव में श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय के बनने से यहां पर विकास के नए आयाम स्थापित होंगे। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार में कोई भाई भतीजावाद से ऊपर उठकर विकास कार्य कराए जा रहे हैं, जिसमें मुख्यत: व्यायामशाला, ओपनजिम, पार्क, सामुदायिक भवन जैसे कार्य शामिल हैं। इस अवसर पर केंद्रीय राज्यमंत्री ने लोगों को वर्तमान सरकार द्वारा पांच सालों में किए गए विकास कार्यो की बुकलैट भेट की। ग्रामवासियों ने पगड़ी बांधकर व फूलमालाओं से अतिथियों का स्वागत किया। इस अवसर पर दयालपुर के सरपंच, दूधौला के सरपंच सुंदर, लोक निर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता नरेंद्र यादव मुख्य रूप से उपस्थित थे।
------‐‐--‐-----------------------‐----------------------------------------
पलवल, 12 सितंबर।नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग हरियाणा द्वारा यह निर्णय लिया गया कि है कि जो किसान डीजल पंप से सिंचाई कर रहा है उसे 3 एचपी से 10 एचपी तक के सौर ऊर्जा पंप 75 प्रतिशत अनुदान पर दिए जाएंगे। क्योंकि डीजल पंप से सिंचाई करने पर किसान का काफी खर्चा होता है तथा पर्यावरण भी दूषित होता है। इसके अलावा गौशालाओं, वाटर यूजर एसोसिएशन, सामूहिक सिंचाई सिस्टम को भी 75 प्रतिशत अनुदान पर सौर ऊर्जा पंप दिए जाएंगे।
इस संबंध में जानकारी देते हुए अतिरिक्त उपायुक्त दिनेश कुमार यादव ने बताया कि नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग द्वारा 3 एच.पी. 5 एच.पी. 7.5 एच.पी. 10 एच.पी. के सौर ऊर्जा पंप 75 प्रतिशत अनुदान पर दिए जाएंगे। जिसके लिए ऑनलाइन फॉर्म भरने की अंतिम तिथि 30 सितंबर है। ये सिस्टम केवल उन्ही किसानों को दिए जाएंगे जो किसान सूक्ष्म सिंचाई जैसे टपका सिंचाई अथवा फव्वारा सिंचाई योजना के तहत सिंचाई करते हो और अपने खेत में जमीनी पाइप लाइन दबाकर सिंचाई करते हों। यदि जिले में निर्धारित लक्ष्य से अधिक आवेदन प्राप्त होते हैं तो ड्रॉ के माध्यम से सोलर पंप वितरित किए जाएंगे। जिन किसानों को पहले अनुदान पर सौर ऊर्जा पंप दिए जा चुके हैं वे इस योजना के तहत पात्र नहीं है। उन्होंने बताया कि एक किसान को केवल एक ही पंप दिया जाएगा।             —‐--------------------------‐----------
पलवल, 12 सितंबर।जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एवं मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी पीयूष शर्मा ने बताया कि माह सितंबर के दौरान जिला के विभिन्न गांव में कानूनी जागरूकता शिविर आयोजित किए जाएंगे, जिनमें 21 सितंबर को न्यायिक परिसर के एडीआर सेंटर में पैनल अधिवक्ताओं द्वारा विशेषज्ञ की राय का स्पष्टï मूल्य पर कार्यशाला, 24 सितंबर को गल्र्स चाइल्ड-डे के अंतर्गत गांव दूधौला, राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सराय, राजीव कॉलोनी पलवल व मॉडर्न विद्या निकेतन स्कूल पलवल में नालसा योजना के तहत चाइल्ड फ्रेंडली लीगल सर्विसेज टू चिल्ड्रन एंड देयर प्रोटेक्शन स्कीम 2015 एंड वे एंड मीन्स टू एम्पॉवर दा गर्ल चाइल्ड के बारे में, मेडिटेशन जागरूकता शिविर के अंतर्गत 15 सितंबर को बमनीखेड़ा में तथा 22 सितंबर को मालोखड़ा में मेडिटेशन जागरूकता कैंप का आयोजन किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि लिविंग स्टार इन स्कूल एंड कॉलेजेस शिविर के अंतर्गत 13 सितंबर को मित्रोल के रामानुज कॉलेज, 16 सितंबर को शौर्य फाउंडेशन, 17 सितंबर को सावित्री देवी विकलांग स्कूल पंचवटी, 18 सितंबर को राजकीय कन्या माध्यमिक विद्यालय चांदहट, 19 सितंबर को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय धतीर तथा 20 सितंबर को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बाल पलवल में नालसा स्कीम के तहत मानसिक रूप से विकलांग व्यक्तियों को कानूनी सेवाएं प्रदान करने बारे व 25 सितंबर को न्यायिक परिसर के एडीआर सेंटर में लिविंग स्टार के अंतर्गत आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा आयोजित नालसा योजना मानसिक रूप से बीमार व विकलांग व्यक्तियों को दी जाने वाली कानूनी सहायता व कानूनी सेवाओं के बारे में जागरूक करने हेतु शिविर का आयोजन किया जाएगा।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages