Sunday, September 8, 2019

जल है, तो कल है : जल पुरूष डॉ राजेन्द्र सिंह


फरीदाबाद(Abtaknews.com)8 सितंबर,2019: दुनिया को जल सरंक्षण का पाठ पढ़ाने वाला देश आज खुद जल संकट से गुजर रहा है कहना है विश्व विख्यात जल पुरुष डॉ राजेन्द्र सिंह का जो सर्व इंडिया फाउंडेशन फरीदाबाद द्वारा 'जल चेतना-जल संरक्षण' नामक विषय पर आयोजित संगोष्ठी में मुख्य वक्ता के रूप में पधारे थे। वाईएमसीए विश्विद्यालय के तत्वाधान में आयोजित इस संगोष्ठी में जल पुरुष ने आगे कहा कि सीरिया में युद्ध का एक कारण जल संकट भी है जो उसके पड़ोसी देश टर्की द्वारा नदी के पानी का बहाव सीरिया में रोकने के कारण पैदा हुआ। जल पुरुष ने उनके द्वारा जल संरक्षण पर किए कामों का हवाला देते हुए कहा कि राजस्थान के अलवर सहित कई ज़िले और हजारो गांव जो कभी सूखा ग्रस्त थे आज खुद के साथ औरो को भी जल की आपूर्ति कर रहे है। इन गांवों में जहाँ पानी की कमी के कारण खेती करना एक सपना था वहाँ आज किसान खेती कर अपनी रोजी रोटी कमा रहे है। डॉ राजेंद्र ने जल संरक्षण के कई विधि भी स्रोताओं को समझाय। आगे फरीदाबाद प्रसाशन एवं जनता को सचेत करते हुए जल पुरुष ने कहा कि फरीदाबाद भी बहुत जल्द जल संकट का सामना करने वाला है इसलिए यहाँ व्यवसायिक अंधाधुन जल दोहन को बंद करने की जरूरत है। इस ओर जनता और प्रशासन को मिलकर लोगो मे जल संरक्षण के लिए जागरूकता लानी होगी , नही तो वह दिन दूर नही जब फरीदाबाद पानी के लिए पड़ोसी शहरों पर निर्भर होगा। इस अवसर पर वक्त ने लोगो को अमरीका एवं जर्मनी से सीख लेने को कहा जहाँ के वासी आज भी जल संरक्षण के कारण अपनी धरती का जल संरक्षित किय हुए है। संगोष्ठी की अद्यक्षता फरीदाबाद के उपायुक्त श्री अतुल कुमार ने की। वहीं संगोष्ठी में पधारे संघ के वरिष्ठ अधिकारी श्री कृष्ण सिंघल ने कहा कि फरीदाबाद कभी सूरज कुंड एवं बड़खल झील के कारण झीलों के शहर के नाम से जाना जाता था आज वह सहर अनापशनाप जल दोहन के कारण पानी की कमी से जूझ रहा है। 
इस अवसर पर संघ के कई वरिष्ठ अधिकारियों के अलावा शहर के कई सम्मानित उद्योगपति भी मौजूद थे। 

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages