Thursday, September 5, 2019

जे.सी. बोस विश्वविद्यालय की नई वेबसाइट, स्टार्ट-अप नीति तथा डेटा प्रबंधन प्रणाली का किया शुभारंभ

फरीदाबाद(abtaknews.com)5 सितम्बर,2019: जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद द्वारा विद्यार्थियों के जीवन में शिक्षकों की भूमिका को मान्यता देते हुए पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती के उपलक्ष्य में आज शिक्षक दिवस मनाया गया।इस अवसर को यादगार बनाने के लिए, कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने कई नई परियोजनाएं विश्वविद्यालय को समर्पित की, जिसमें नई विश्वविद्यालय वेबसाइट, नई स्टार्ट-अप नीति और संकाय सदस्यों के लिए डेटा प्रबंधन प्रणाली सॉफ्टवेयर शामिल हैं।इस अवसर पर बोलते हुए, कुलपति ने शिक्षकों को शुभकामनाएं देते हुए विद्यार्थी के जीवन में शिक्षक के महत्व अपने विचार साझा किये। उन्होंने कहा कि एक शिक्षक के लिए शिक्षक दिवस इस पर पुनर्विचार करने का दिन होता है कि वह अपने विद्यार्थियों के जीवन में बेहतर बनाने में अपना क्या श्रेष्ठतम योगदान दे सकता है। उन्होंने कहा कि शिक्षकों को अध्यापन के अलावा विद्यार्थियों को सफल कैरियर के लिए प्रेरित करने में मार्गदर्शक के रूप में अपनी भूमिका निभानी चाहिए, जिससे शिक्षकों और विद्यार्थियों के लिए बीच जुड़ाव और घनिष्ठ बनेगा।
कार्यक्रम को कुलसचिव डाॅ. राज कुमार ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर सभी डीन, विभागाध्यक्ष तथा संकाय सदस्य उपस्थित थे।
नए होम पेज और वेबमेल एन्हांस फीचर के साथ नई लॉन्च की गई विश्वविद्यालय की नई वेबसाइट ूूण्रबइवेमनेजण्ंबण्पद मौजूदा साइट की जगह लेगी जो 2009 से संचालित थी। नई वेबसाइट को विश्वविद्यालय के आईटी सेल की टीम ने विकसित और डिजाइन किया है। विश्वविद्यालय के सिस्टम एनालिस्ट एवं प्रोग्रामर अंकित पन्नू ने बताया कि नई वेबसाइट तेज और हल्का संस्करण और मोबाइल के लिए ज्यादा अनुकूलित है। उल्लेखनीय है कि विश्वविद्यालय का नाम में परिवर्तन होने के बाद से वेबसाइट के डोमेन में बदलाव की आवश्यकता महसूस की जा रही थी। 
विश्वविद्यालय में स्टार्ट-अप इकोसिस्टम को विकसित करने और विद्यार्थियों के स्टार्ट-अप परियोजनाओं को सहयोग देने उद्देश्य से विश्वविद्यालय ने अपनी स्टार्ट-अप नीति जारी की है जो विश्वविद्यालय के मौजूदा तथा भूतपूर्व विद्यार्थियों को सुविधा प्रदान करेगी। नई नीति विद्यार्थियों को नवाचार की ओर प्रोत्साहित करेगी तथा उन्हें कैरियर के रूप में उद्यमिता का चयन करने में सहयोग देगी। स्टार्ट-अप नीति को राज्य सरकार दिशा-निर्देशानुसार स्टार्ट-अप कोर्डिनेटर डाॅ. संजीव गोयल तथा डाॅ. रश्मि पोपली द्वारा कुलपति प्रो. दिनेश कुमार के मार्गदर्शन में तैयार किया गया है।इसी प्रकार, विकसित किया गया डाटा प्रबंधन प्रणाली सॉफ्टवेयर संकाय सदस्यों को उनकी अकादमिक डाटा सहित सभी जानकारियां अपडेट करने में सक्षम बनायेगा। नई डाटा प्रबंधन प्रणाली को डिजिटल इंडिया सेल द्वारा विकसित किया गया है।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages