Wednesday, August 14, 2019

एनएसयूआई ने सीट बढ़ोतरी की मांग को लेकर एक दिवसीय सांकेतिक धरना दिया





फरीदाबाद(abtaknews.com)13August,2019: एनएसयूआई फरीदाबाद के कार्यकर्ताओं एवं छात्रों ने सभी सरकारी कॉलेजों की यूजी/पीजी कक्षाओं में 20% सीट बढ़वाने के लिए पंडित जवाहरलाल नेहरू कॉलेज के गेट पर काली पट्टी बांधकर एक दिवसीय सांकेतिक धरना दिया। इस दौरन प्रदर्शनकारियों ने खट्टर सरकार मुर्दाबाद, शिक्षा मंत्री मुर्दाबाद के नारे लगाए। इस धरने प्रदर्शन का नेतृत्व एनएसयूआई हरियाणा के प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री ने किया।
इस दौरान प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री ने बताया कि सीट बढ़ोतरी की जायज मांग को लेकर एनएसयूआई 18 जुलाई से संघर्षरत है लेकिन खट्टर सरकार और शिक्षा मंत्री का छात्रों के भविष्य की तरफ कोई ध्यान नहीं है। उन्होंने बताया कि सीट बढ़ोत्तरी की मांग को लेकर एनएसयूआई पूरे प्रदेश भर में आंदोलन कर रही है। 
कृष्ण अत्री ने बताया कि सीट बढ़ोतरी की मांग को लेकर 18 जुलाई को पंडित जवाहरलाल नेहरू कॉलेज के गेट पर हस्ताक्षर अभियान चलाया था तथा 22 जुलाई को नेहरू कॉलेज के गेट पर सैंकड़ो बच्चो ने प्रदर्शन करके प्राचार्या को शिक्षा मंत्री और डीएचई के डायरेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपा था। उसके बाद 24 जुलाई को जिला उपायुक्त कार्यालय पर प्रदर्शन करके ज्ञापन सौंपा था लेकिन जब कॉलेज प्रशासन से जिला प्रशासन तक किसी ने नही सुनी तो छात्रों ने 26 जुलाई को उद्योग मंत्री विपुल गोयल के समक्ष अपनी मांग रखी थी। इसके बाद 29 जुलाई हो जाने तक भी माँग पूरी नही की गई थी तो छात्रों ने पुतला फूंक कर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला था तथा एनएसयूआई भिवानी ने शिक्षा मंत्री को ज्ञापन सौंपा था और शिक्षा मंत्री ने 2 दिन में सीट बढ़ाने का आश्वासन दिया था। वहीं 2 अगस्त को छात्रों ने बल्लभगढ़ के विधायक मूलचंद शर्मा को ज्ञापन सौंपकर अपनी मांग से अवगत करवाया था। लेकिन शिक्षा मंत्री के आश्वासन के बाद भी सीट नही बढ़ी तो 8 अगस्त को वायदा खिलाफी का विरोध करते हुए शिक्षा मंत्री का पुतला फूंका था। 
अत्री ने खट्टर सरकार पर आरोप लगाया कि सरकार को छात्रों का शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन करना रास नही आ रहा है अगर समय रहते सीट नही बढ़ी तो छात्र अब धरने देने और भूख हड़ताल पर बैठने से भी पीछे नही हटेंगे। ऐसे में छात्रों को मांग को ध्यान में रखते हुए स्नातक कक्षाओं (बी.एससी, बी.कॉम, बी.ए, बीबीए, बीसीए) व परास्नातक कक्षाओं (एम.कॉम, एम.एससी, एम.ए) में 20% सीटें बढ़ाने की जरूरत है और सरकार को बिना विलंब के सीट बढ़ा देनी चाहिए।
इस दौरान विक्रम यादव, दुर्गेश दुग्गल, मोहित भाटी, विवेक शर्मा, नितिन, रवि रावत, राहुल वर्मा, संजीव अत्री, प्रशांत दीक्षित, ऋषभ यादव, अमन गौतम, विशाल वशिष्ठ, मनोज प्रजापति, नवीन, अमन पंडित, गोविंद, रमेश, आकाश, सूरज रावत, दीपांशु, वैभव आंनद, अंशुल, विक्की, मोंटी, धीरज, उज्जवल, सचिन गोला, पंकज, हिमांशु, धर्मवीर, खुशबू चौधरी, प्रियंका सूर्यवंशी, प्रीति, प्रिया मिश्रा आदि मौजूद थे।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages