आशीर्वाद यात्रा के बजाए तिगांव की बदहाली के लिए जनता से माफी मांगे मुख्यमंत्री: ललित नागर


फरीदाबाद(abtaknews.com) 28अगस्त,2019: तिगांव विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेसी विधायक ललित नागर ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा निकाली जा रही जन-आशीर्वाद यात्रा पर बड़ा कटाक्ष करते हुए कहा कि जनता को यह समझ नहीं आ रहा कि आखिर मुख्यमंत्री किससे आर्शीवाद लेने आ रहे है क्योंकि 5 साल के शासनकाल में प्रदेश की जनता को सिवाए वायदाखिलाफी के कुछ हासिल नहीं हुआ है। बेरोजगारी प्रदेश में इस कद्र बढ़ी है कि यात्रा के दौरान ही मुख्यमंत्री की मौजूदगी में लोग आत्मदाह तक करने को मजबूर हो रहे है वहीं प्रदेश में 3 बार फैले जातीय दंगों में लगभग 84 लोगों की मौत हो चुकी है। उन्होंने कहा कि दरअसल में मुख्यमंत्री आर्शीवाद लेने नहीं बल्कि सत्ता के मद में मदमस्त हो जनता का उपहास उड़ा रहे है कि पांच साल में प्रदेश को बगैर किसी सौगात दिए ही बगैर जनता की पसंद के भाजपा आलाकमानफिर से उन्हें मुख्यमंत्री के रुप में प्रोजेक्ट कर रहा है। उन्होंने यात्रा के तिगांव विधानसभा क्षेत्र में प्रवेश करने पर सवाल दागते हुए कहा कि मुख्यमंत्री पहले यह बताए कि पौने पांच साल के कार्यकाल में तिगांव क्षेत्र में उन्होंने जनहित में कौन सी घोषणा को पूरा किया है। अब चुनाव नजदीक आता देख फिर तिगांव क्षेत्र की जनता को ठगने का प्रयास किया जा रहा है। तिगांव की बदहाली का इसी बात से प्रमाण मिल जाता है कि मुख्यमंत्री को यात्रा के तहत तिगांव क्षेत्र के गांवों में घुसने ही नहीं दिया जा रहा क्योंकि यात्रा गांवों में जाती तो सहज ही क्षेत्र की बदहाली का अंदाजा लगाया जा सकता था। इसी डर से मुख्यमंत्री केवल बाईपास हाईवे तक ही यात्रा को सीमित रख पाए।  श्री नागर ने कहा कि विधायक बनने के बाद तिगांव क्षेत्र के विकास के लिए पिछले 5 सालों के दौरान उन्होंने सडक़ से लेकर विधानसभा तक आवाज उठाई और मुख्यमंत्री सहित पूरी सदन का ध्यान आकर्षित करने का प्रयास किया परंतु इसके बावजूद इन पांच सालों में मुख्यमंत्री व उनकी सरकार ने क्षेत्र में एक रुपये का भी विकास कार्य नहीं करवाया, जो भाजपा की नीति और नीयत को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि भाजपा जुमलेबाजों की सरकार है, पांच सालों में बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, कानून व्यवस्था बदहाली की सौगात देकर आम आदमी का जीना दुश्वार कर दिया है। भाजपा सरकार में गिनवाने के लिए कोई कार्य नहीं है, बस जुमलेबाजी है, जो जनता भली भांति जान चुकी है और विधानसभा चुनावों में वोट की चोट से सरकार को जवाब देने का काम करेगी। 

No comments

Powered by Blogger.