नयनपाल के आशवासन पर आईएमटी के आन्दोलनकारी किसान मुख्यमंत्री को नहीं दिखाएंगे काले झंडे

फरीदाबाद(Abtaknews.com)27अगस्त,2019:पिछले 22 महीने से  मुआवजे की मांग को लेकर आईएमटी पर धरने पर बैठे 5 गांवों के किसानों ने भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य एवं पूर्व प्रत्याशी नयनपाल रावत के आश्वासन पर मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाने के अपने कार्यक्रम को स्थगित कर दिया है। नयनपाल रावत ने मंगलवार को धरना स्थल पर पहुंचकर किसानों की बातचीत की और उन्हें विश्वास दिलाया कि एक महीने के अंदर उनकी मांगों को सरकार से पूरा करवा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल की जन-आर्शीवाद यात्रा पृथला में आ रही है इसलिए हमें इस यात्रा के स्वागत के लिए एकजुट होकर कार्य करना चाहिए। रावत के आश्वासन के बाद किसानों ने अपने विरोध प्रदर्शन के कार्यक्रम को रद्द कर दिया। गौरतलब है कि पृथला क्षेत्र के आईएमटी में 22 महीने से मुआवजे की मांग को लेकर धरने पर बैठे गांव नवादा, चंदावली, मच्छगर, मुजेडी व सोतई के किसानों ने रविवार को एक पंचायत करके मुख्यमंत्री के फरीदाबाद आगमन पर उन्हें दिल्ली-बाईपास रोड पर यात्रा को काले झंडे दिखाने का निर्णय लिया था। किसान संघर्ष समिति के प्रधान रामनिवास नागर का कहना है कि किसानों की मांगों को लेकर जो धरना चल रहा है, वह जारी रहेगा, अब वह मुख्यमंत्री की यात्रा को काले झंडे नहीं दिखाएंगे। उन्होंने कहा कि उनकी मांगें बहुत पुरानी है और जिसको लेकर कई बार स्थानीय विधायकों व मंत्रियों से बातचीत हो चुकी है परंतु इसके बावजूद उनकी मांगों को पूरा नहीं किया गया।

No comments

Powered by Blogger.