Tuesday, July 23, 2019

गर्ल्स के लिए प्रेरणा बनी ममता डागर



पलवल/ फरीदाबाद(abtaknews.com)23 जुलाई,2019:पलवल के धतीर गांव निवासी ममता डागर का सपना तो इंटरनेशनल प्रोग्रामर और पेटेंट हासिल करके कुछ  बनने का था, पर भाग्य ने उसे फिटनेस ट्रेनर  बना दिया। ममता डागर  को स्कूली समय से रोमांचकारी खेलों व साहसिक गतिविधियों में भी भाग लेने की रुचि थी, पर उसने कभी सपने में भी यह नहीं सोचा था कि विश्व के चुनिंदा ब्रांड्स की एंडोर्स्मेंट उन्हें  ऊंचाइयों पर ले जाएगी।  इन पलों ने उसका नाम पिछले दिनों जारी मुंबई अर्थ फेस्टिवल मैं पार्टिसिपेंट के रूप  में दर्ज हो गया और एक बड़ी उपलब्धि ममता डागर के नाम अंकित हो गई,ये ये सब उपलब्धि हासिल करने के पीछे रोचक किस्सा है। बकौल ममता मुझे एडवेंचर्स खेलों और गतिविधियों का


शौक भी बचपन से रहा है। अपनी कंपनी की गतिविधियों के तहत मुझे जिम जाने का मौका मिला, वहां ट्रेनिंग के दौरान  मैंने जिम ट्रेनर  से यूं ही मजाक में कह दिया कि क्या मैं भी ट्रेनर बन सकती हूं। इस पर उन्होंने जवाब दिया कि न सिर्फ बन सकती हैं, बल्कि आप चाहें, तो डिजिटल माध्यम से ऑनलाइन ऑडिएंसेस की लिए नुट्रिशन्स एवं डाइट के विशेष प्लान मार्किट मैं अवेयरनेस लिए प्रस्तुत कर सकती हैं और , मुझे यकीन ही नहीं हुआ कि फिटनेस और नुट्रिशन्स के तहत इतना कुछ करियर का मुख्या एजेंडा  बन सकता हैं   मैंने फिर पूछा, तो उन्होंने कहा कि बिल्कुल सही सुना है।  इसके आलावा ममता ने बताया की यह मेरे जीवन की बड़ी उपलब्धि है। आज नारी सिर्फ चूल्हे-चौके तक ही सीमित नहीं है। नारी अपनी इच्छा शक्ति व बुलंद हौसलों के साथ हर वो काम कर सकती है और कर रही है, जो वह चाहती है। नारी अंदर की आवाज सुने और फिर उसे पूरा करने में जुट जाए। अगर कुछ नहीं करोगे, नहीं सोचोगे, तो यहीं रह जाओगे। मेरा सीधे स्पष्ट शब्दों में कहना है मुश्किल नहीं है कुछ भी अगर ठान लीजिए। बिना डरे आगे बढ़ो, बस परिवार को विश्वास में रख कर काम करो,
परिवार का सहयोग होना बहुत जरूरी है।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages