Breaking

Wednesday, July 24, 2019

जे.सी. बोस विश्वविद्यालय में विद्यार्थियों को बताया ‘गुरुबाणी’ का महत्व, लंगर,रक्तदान


फरीदाबाद(abtaknews.com)24 जुलाई,2019:गुरु नानक देव जी की शिक्षाओं के बारे में छात्रों को जागरूक करने के उद्देश्य से, जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने आज श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाशोत्सव के उपलक्ष्य में गुरुबाणी पर आधारित एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया। इसके अलावा, एक रक्तदान शिविर का आयोजन भी किया गया।
मैकेनिकल इंजीनियरिंग ब्लाॅक में आयोजित गुरुबाणी दरबार साहिब का आयोजन गुरूद्वारा श्री गुरु सिंह सभा, सेक्टर-7, फरीदाबाद के सहयोग से मैकेनिकल इंजीनियरिंग विभाग के अध्यक्ष डाॅ. तिलक राज की देखरेख में किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत श्री गुरु ग्रंथ साहिब की अरदास और भजनों के गायन से हुई। गुरु नानक बाणी पर आधारित कीर्तन दरबार को सुनने के लिए विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों के कई छात्र और संकाय सदस्य पहुंचे।
कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने श्ऱद्धापूर्वक श्री गुरु ग्रंथ साहिब पर रमाला साहिब भेंट किया। कुलपति ने कहा कि गुरु नानक देव जी को भारत के महान दार्शनिकों, शिक्षकों और समाज सुधारकों में से एक माना जाता है। उनका प्रेम, शांति, समानता और भाईचारे का संदेश सभी के लिए प्रेरणादायी है और हमें गुरु नानक देव जी की शिक्षाओं को आत्मसात करने की आवश्यकता है। कार्यक्रम के  समापन पर ‘गुरु का लंगर’ लगाया गया, जहां सभी ने प्रसाद ग्रहण किया।
इस उपलक्ष्य में विश्वविद्यालय द्वारा भारत विकास परिषद (बीवीपी), फरीदाबाद शाखा के सहयोग से एक रक्तदान शिविर का आयोजन भी किया गया, जहां विद्यार्थियों, शिक्षकों और कर्मचारियों स्वैच्छिक रक्तदान में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। शिविर का समन्वयन विश्वविद्यालय के एनएसएस और यूथ रेड क्रॉस विंग द्वारा निदेशक, युवा कल्याण डा. प्रदीप डिमरी और डीन, प्रबंधन अध्ययन डा. अरविंद गुप्ता की देखरेख में किया गया। कुलपति ने भी शिविर का दौरा किया और छात्रों को स्वैच्छिक रक्तदान के लिए प्रोत्साहित किया। इस अवसर पर बीवीपी के अध्यक्ष श्री एस.आर. मित्तल और परिषद के अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages