Breaking

Sunday, July 14, 2019

फरीदाबाद के चर्चित गैंगरेप में सोमवार को जिला न्यायालय दो आरोपियो को सुनाएगी सजा

फरीदाबाद(abtaknews.com) 14जुलाई,2019: शहर का एक ऐसा गैंग रैप केस जिसे पुलिस विभाग और महिला आयोग झूठा करार देने पर जुटी रही। मीडिया ने गैंग रैप पीड़िता की हिम्मत को बढ़ाने का कार्य किया। मीडिया की सुर्ख़ियों में रहे इस केस को झूठा साबित करने में सरकारी महकमे ने पुरजोर कौशिस की। पीड़िता द्वारा पुलिस आयुक्त मुख्यालय के सामने अपने परिवार के साथ धरना देना पड़ा जब मीडिया में उक्त गैंगरेप मुखर हुआ तो पुलिस प्रशासन ने उल्टा पीड़िता और पीड़िता का साथ देने वाले सामाजिक -धार्मिक संगठनो के पर्तिनिधियो के खिलाफ मामला दर्ज किया लेकिन मीडिया की निर्भीकता भरी रिपोर्टिंग के आगे कानून को झुकना पड़ा, कोर्ट तक केस पहुंचा और आज कोर्ट ने सभी गवाही और सुबूतों के आधार पर दोनों आरोपियों को दोषी करार दिया और 15 जुलाई को सजा देने का निर्णय सुनाएगी। 
क्या कहती है गैंगरेप पीड़िता ---
 मै एक पीड़िता जो अरोपियो के खिलाफ लंबे समय से संघर्ष करती आ रहीं हूँ , मेरी इस न्याय की लड़ाई में आप सभी ने मददगार बनकर मुझे न्याय दिलवाने में अपनी अहम भूमिका निभाई। मुझ पर अत्याचार करने वालों की गिरफ़्तारी करवाने में वर्ष 2016 मे मेरी मदद की। जिसके चलते माननीय जिला न्यायालय के अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश नरेंद्र शर्मा कि अदालत द्वारा पहले ही 11 जुलाई को दो आरोपियों रामपाल और प्रवींण को दोषी करार कर नीमका जेल भेज दिया है। जिसकी  सजा कि तारीख जिला न्यायालय द्वारा 15 जुलाई निश्चित की गई है।   
फरिदाबाद के कुछ पुलिस कर्मियो द्वारा आरोपियो से मिलिभगत कर आरोपियो को बचाने हेतु व सबूत मिटाने का हर सम्भव प्रयास किया गया जिस बावत मै शुरु से ही पुलिस के तमाम उच अधिकारियो को लिखित शिकायत करती रही और आप सब के संज्ञान मे भी हमेशा से लाती रही जो कि कल क्या सजा होगा इसका हमे भी अंदाजा नही है लकिन मै माननीय न्यायालय से आप सब के माध्यम से आनुरोध करती हूँ कि आरोपियों को सख्त से सख्त सज्जा दिया जाएँ। कृपया मेरी इस न्याय की लड़ाई में मेरा साथ दें। 

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages