Wednesday, July 31, 2019

खट्टर सरकार में हर माह 120 करोड़ की अवैध वसूली बिना सरकार की संलिप्पता के नहीं हो सकती - दुष्यंत चौटाला

 कुरुक्षेत्र 31 जुलाई(abtaknews.com)हरियाणा में भाजपा की खट्टर सरकार में ओवरलोडिंग के नाम पर पांच हजार करोड़ रूपये का घोटाला हुआ है। इस घोटाले में खट्टर सरकार ने जमकर जनता को लूटा है। दोनों हाथों से लूट का यह काला धंधा पिछले कई बरसों से विभिन्न जिलों में चल रहा है। सुनियोजित ढंग से किए गए इस लूट के घोटाले में अकेली अफरशाही ही शामिल नहीं बल्कि इसमें सीएम से लेकर भाजपा सरकार के कई मंत्री, विधायकों की संलिप्तता से इन्कार नहीं किया जा सकता और इन लोगों ने मिलकर ही इस "मनोहर"घोटाले को अंजाम दिया है। यह बात आज जननायक जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहीं। उन्होंने मांग की है कि इस घोटाले की जांच सीबीआई से होनी चाहिए ताकि लूट की कमाई करने वालों के कालिख भरे चेहरे जनता के सामने आ सकें। वे कुरूक्षेत्र जिले के गांव मथाना,मोरथला सहित आधा दर्जन गांवों में जन-चौपाल कार्यक्रम के दौरान ग्रामीणों से रूबरू हो रहे थे। 
दुष्यंत चौटाला ने ओवरलोडिंग की इस काली कमाई के धंधे को 'मनोहर' घोटाले की संज्ञा देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री अपनी सरकार के लोगों को बचाने के लिए अधिकारियों को बलि का बकरा बनाने का प्रयास रहे हैं। उन्होंने कहा कि एसआईटी की रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश भर के विभिन्न जिलों से प्रति माह 120 करोड़ रूपये की लूट की जा रही थी और गणना की जाए तो एक वर्ष 1400 करोड़ रूपये एकत्रित किए गए और ओवरलोडिंग के नाम पर चार वर्षों में इस काली कमाई का आंकड़ा पांच हजार करोड़ रूपये से अधिक का है।दुष्यंत चौटाला ने कहा कि ओवरलोडिंग के नाम चालान करने का डर दिखा कर वाणिज्यिक वाहनों से यह अवैध वसूली की गई। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि वाहनों से विभिन्न जिलों में प्रति माह 100 करोड़ रूपये से अधिक की इस अवैध वसूली बिना सरकार की सीधी संलिप्तता के होने का सवाल ही नहीं है।  
पूर्व सांसद ने कहा कि मनोहर लाल खट्टर सरकार में आए दिन घोटाले उजागर हो रहे हैं। सबसे पहले उन्होंने स्वयं प्रदेश में हजारों करोड़ रूपये का दवा घोटाले को तथ्यों सहित उजागर किया था, जिसका जिसकी जांच आज तक खट्टर सरकार ने पूरी नहीं की। इसके बाद रोडवेज में किलोमीटर स्कीम के नाम एक ऑन रिकार्ड एक हजार करोड़ रूपये का घोटाला सामने आया और इस किलोमीटर स्कीम को मंजूरी देने में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से लेकर परिवहन मंत्री का सीधा दखल था। इस स्कीम में 1000 करोड़ रूपये का घोटाला सामने आया।उन्होंने कहा कि इसी प्रकार सरकारी नौकरियों देने में रिश्वतखेरी का घोटाला सामने आया। सरकार ने अब तक उजागर हुए घोटालों को बहुत ही मनोहर ढंग से दबा दिया और अधिकारियों तक ही जांच को सीमित कर दिया। दुष्यंत ने कहा कि हर घोटाले को हरियाणा की भाजपा सरकार मंत्रियों, विधायकों, नेताओं व अपने चहेतों को बचाने के लिए बड़े ही मनोहर तरीके से अधिकारियों को बलि की बकरा बनाने का प्रयास कर रही है। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि यह इन घोटालों की जांच निष्पक्ष व सही ढंग से की जाए तो कई भाजपाईयों के चेहरों को घोटाले का कलंक बेरंगत कर सकता है।
साथ ही उन्होंने कहा कि कुरुक्षेत्र धर्मस्थली है और इस जगह पर धर्म की जीत हुई थी। ठीक उसी तरह इस पावन धरा से भाजपा को उखाड़ फेंकने का संकल्प लें।इस अवसर पर पार्टी प्रदेशाध्यक्ष सरदार निशान सिंह,जिला अध्यक्ष कुलदीप मुल्तानी,पूर्व विधायक अर्जुन सिंह,संतोष दहिया,जोग ध्यान,जसविंदर खैरा,चंद्रप्रकाश सैनी,मायाराम,संदीप लाडा, दिलबाग सिंह गुराया,सूबे सिंह त्योडी, होशियार सिंह नम्बरदार, रणबीर जागलान,संदीप पंजेटा,अनवर खान,धर्मेंद्र नैन, डॉ रणधीर,जगवीर,कुलदीप लाडा,रंजीत नैन, जीत सिंह ,योगेश शर्मा सहित पार्टी के कई पदाधिकारी उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages