Thursday, June 13, 2019

फरीदाबाद में नाबालिग छात्रा का अपहरण-यौन शोषण का मामला, मौका देख चंगुल से छूटकर किया खुलासा



फरीदाबाद(abtaknews.com)13जून,2019;शहर में अपहरण कर मानव तस्करी का मामला सामने आया है ,इस मामले के सामने आने के बाद खुलासा हुआ है की एक साल पहले यानि 12 फ़रवरी 2018 को एक नाबालिग छात्रा का अपहरण कर उसे  20 हजार रुपये में 45 साल के युवक से सौदा किया गया था ,जिसके  बाद आरोपी ने उससे उसकी बिना मर्जी के शादी कर ली और एक साल तक उसे घर में ही कैद रखकर उसके साथ जबरन सबन्ध बनता रहा। यह खुलासा पीड़िता ने एक साल बाद यानि 19 फ़रवरी को आरोपियों के चंगुल से छूटने के बाद किया। अब एक साल तक रेप की शिकार हुई बच्ची ने बीते 4 जून को एक बच्चे  को जन्म दिया है। अब पीड़िता और उसका परिवार  न्याय माँग रहा है उनके मुताबिक़ अभी पुलिस ने अपहरण कर्ताओ और उसकी कथित सास नन्द सहित बच्ची  करने आरोपियों को गिरफ़्तार नहीं किया है । वहीं माता -पिता के जज्बे को मीडिया की टीम सलाम  करती है ,वह इसलिए की बच्ची के माता - पिता अपनी बच्ची  के मिलने के काफी खुस तो है ही उनका कहना है की बेटी ने जिस बच्चे  को जन्म दिया है वह उसे भी लेंगे और अपनी बच्ची को और आगे पढ़ा लिखा कर उसके पैरों पर खड़े होने के काबिल बनाएंगे,ताकि समाज मे बेटियों को बेटो से कम आंकने वालों के लिए बने मिशाल।
नाबालिग छात्रा और उसके माता- पिता है जिनके हौशले और जज्बे को मीडिया की टीम भी सलाम करती है ।अपनी आप बीती बताती यह वही नाबालिग है जिसका एक साल पहले 12 फरवरी 2018 को उस समय अपहरण कर लिया गया था जब वह आपताल में बीमार अपने पिता के पास आ रही थी.पीड़िता के मुताबिक यह बल्लभगढ़ से ऑटो में सवार होकर फरीदाबाद के सिविल अस्पताल में एडमिट अपने पिता के पास आ रही थी कि तभी अचानक उसका अपहरण हो गया और उसे पता भी नहीं चला जब उसे पता चला तो वह दिल्ली के पालम विहार इलाके में थी और उसके सामने ऑटो चालक और पहले से ऑटो में बैठी युवती थी जिसे ऑटो चालक भाभी बुला रहा था ।होस में आने के बाद इस नाबालिग ने उनसे अपने आप को छोड़ने की बात कही लेकिन दोनों आरोपियों ने उसे जान से मारने की धमकी देते हुए चुप करा दिया और एक महिला और 45 साल का युवक उनके पास आया और उसका सौदा 20 हजार रुपये में करके उसे अपने साथ उत्तर प्रदेश के बदायूँ ले गए जहाँ उस अधेड़ उम्र युवक ने उससे जबरन शादी कर ली और फिर एक साल तक उसकी बिना मर्जी के शारीरिक सम्बन्ध बनाने लगा ऐसा करने के लिए मना करने पर आरोपी युवक उसे जान से मारने की धमकी देता था इस काम मे उसकी कथित सास और ननद भी उसका सहियोग करती थी।पीड़ित के मुताबिक उसे एक साल तक घर मे ही कैद रखा गया उसे घर से बाहर जाने की इजाजत नहीं थी उसकी सास और नन्द उस पर पूरी नजर रखते थे यहाँ तक की फोन भी उसकी पहुँच से हमेशा दूर रखा जाता था उसे पूरे दिन में एक बार  ही खाना दिया जाता था और वह भी बचा कूचा और बासी। अब उसे लगभग  एक साल होने वाले थे और वह इस दौरान गर्भवती हो गई थी जिसके बाद उसके उनका मन जीतने का बहाना बना कर उनसे कहा कि अब मै कहीं नहीं जाना चाहती मैं अब यही रहूँगी तो उन्होंने उस ओर सख्ती कम कर दी. जिसके बाद एक दिन गलती से आरोपी युवक यानी उसके कथित पति का फोन घर पर चार्जिंग पर लगा रह गया और उसने मौका पा कर उस फोन से अपने माता पिता को अपने आप को उत्तर प्रदेश के बदायूँ जिले में होने की बात कही।जिसके बाद उसके परिजनों के होश उड़ गए दूसरी और अपनी बेटी की जानकारी मिलने के बाद उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। अब वह अपनी बेटी को दुबारा नहीं खोना चाहते थे इसलिए उन्होंने अपनी बड़ी बेटी और दामाद को उनके कथित पति को अपने विश्वास में लेने जिम्मेदारी शौंपी जिसके बाद उसकी बड़ी बहन और दामाद ने उसे अपनी बातों में उलझा कर अपनी बातों के जाल में फंसा लिया और आखिरकार आरोपी शख्स ने उन्हें मिलने का समय और तारीख मुकर्रर कर दी।जिनके बाद प्लान के मुताबिक वह उसके घर उससे मिलने के लिए पहुँच गए लेकिन आरोपी पकड़े जाने के डर से उनकी बहन के लेकर कहीं बाहर था लेकिन घण्टो उसकी बड़ी बहन और जीजा उनका इंतजार करते रहे और घर पर मौजूद सदस्यों को बातों के जाल में फसाया काफी समय बीत जाने के बाद वह विश्वास में आ गए और फिर आरोपी के घरवालों ने आरोपी को घर आने की बात कही जिसके बाद आरोपी बच्ची को लेकर घर पहुंच गया उधर प्लान के मुताबिक बच्ची के पिता पुलिस के साथ अलग गाड़ी में उन्हें पकड़ने के लिए उनके इशारे का इंतजार कर रहे थे। घण्टो इंतजार के बाद आखिर पुलिस के साथ आरोपी को पकड़ने के लिए इशारे का इंतजार कर रहे उसके पिता को बेटी और दामाद ने इशारा कर दिया इशारा मिलते ही पुलिस ने आरोपी के घर पर रेड मार दी और आरोपी को गिरफ्तार करते हुए बेटी को सकुशल बरामद कर लिया। फिर फरीदाबाद पुलिस आरोपी को फरीदाबाद ले आई और  मामले में खानापूर्ति करते हुए केवल उसी आरोपी गुनहगार मानते हुए कोर्ट में पेश किया जहाँ से उसे जेल भेज दिया गया। उधर इस दौरान नाबालिग बेटी एक साल तक रेप का शिकार हुई और वह गर्भवती हो चुकी थी लेकिन समय ज्यादा होने के चलते कोर्ट ने उनकी अबॉर्शन की परमिशन नही दी और बच्ची को पूरा समय कर बच्चे को जन्म देना पड़ा। आखिर 4 जून  को बच्ची ने फरीदाबाद के सिविल अस्पताल बादशाह खान में ऑपरेशन से एक बेटे को जन्म दिया लेकिन बच्ची की हालत आज बहु नाजुक बनी हुई है. बच्ची को डिलीवरी के बाद से ही खून की कमी के चलते खून चढ़ाया जा रहा है। वहीं जब मीडिया की टीम बच्ची से मिलने अस्पताल पहुंचीं तब बच्ची में कैमरे पर अपनी आप बीती बताते हुए बाकी बचे आरोपियों को गिरफ्तार कर उसे न्याय दिलाने की बात कही उसके मुताबिक जो ऑटो चालक और ऑटो में उसका अपहरण में सहियोग करने वाली महिला उसकी कथित सास और नन्द को भी गिरफ्तार कर जेल भेजा जाए तब जाकर उसे न्याय मिलेगा।
इस घटना में अब पीड़ित बच्ची के माता पिता भी पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठा रहे है उनके मुताबिक पुलिस ने कारवाही को सही से अंजाम नहीं दिया जिसके चलते उनकी बेटी को अपहरण कर 20 हजार रुपये में सौदा करने वाले आज भी जेल की सलाखों से दूर है और ऐसा पुलिस की लापरवाह कारवाही के चलते हुआ।इस घटना में सबसे बड़ी बात यह है की बच्ची के माता- पिता को अपनी बच्ची के साथ हुई इतनी बड़ी घटना के बाद भी अपनी बच्ची के प्रति सहानुभूति है ,उनका कहना है की इस घटना में उनकी बच्ची की कोई गलती नहीं है अब उनके कंधो पर  एक नहीं दो- दो जिम्मेदारी आ गई है, अब वह नवजात  बच्चे का लालन पालन करेंगे और बेटी  को और आगे पढ़ाएंगे और उसे इस काबिल बनाएंगे की वह अपने पैरों पर खड़ी होकर समाज मे उन लोगों के लिए मिशाल बने जो बेटियों को बेटो से कम आँकते है।ऐसी सोच रखने वाले माता पिता को मीडिया की टीम सलाम करती है जो बेटियों को बेटों से कम आंकती है।
जब नाबालिग बच्ची द्वारा आपताल में एक बच्चे को जन्म देने की जानकारी महिला आयोग की टीम की सदस्य रेनु भाटिया को लगी तो वह पीड़ित बच्ची से मिलने अस्पताल पहुंच गई और पीड़ित बच्ची का हालचाल जाना और अस्पताल के डॉक्टरों को बच्ची और उसके बच्चे का विशेष ध्यान रखने की बात कही।इस मौके पर रेनु भाटिया ने बच्ची के माता पिता से बात की तो उन्होंने बताया कि इस घटना में उनकी बच्ची की कोई गलती नहीं है अब उनके कंधो पर दो दो जिम्मेदारी आ गई है अब वह उसके बच्चे का लालन -पालन करेंगे और बेटी  को और आगे पढ़ाएंगे और उसे इस काबिल बनाएंगे की वह अपने पैरों पर खड़ी होकर समाज मे उन लोगों के लिए मिशाल बने जो बेटियों को बेटो से कम आँकते है। रेनु भाटिया ने भी ऐसी सोच रखने वाले माता पिता के जज्बे को सलाम करते हुए कहा कि ऐसे माँ - बाप उस समाज के लिए मिशाल है जो बेटियों को बेटो की तुलना में कम आंकते है।
पुलिस की कार्यवाही पर सवाल उठने के बाद पुलिस प्रवक्ता सूबे से बात की गई तो उन्होंने बताया कि इस मामले में पुलिस अपहरण,खरीदफरोख्त के साथ अन्य कई धाराओं में FIR दर्ज कर चुकी है. फिलहाल पुलिस इस मामले में आगे की कार्यवाही में जुटी हुई है। लेकिन सभी आरोपी फरार चल रहे है पीड़ित की सास भी फरार है जिसे पुलिस ने नोटिस भेजा है।इस मामले में एक आरोपी यानी  नाबालिग के कथित पति को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। फिलहाल कार्यवाही को आगे बढ़ाते हुए बाकी बचे आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा और पीड़ित बच्ची को पुलिस की तरफ से पूरा न्याय दिलाया जाएगा।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages