Wednesday, June 5, 2019

ईद आपसी भाईचारे व सौहार्द को बढावा देने वाला पर्व है: सोहनपाल सिंह

फरीदाबाद(abtaknews.com)05जून,2019; ईद आपसी भाईचारे व सौहार्द को बढ़ावा देने वाला पर्व है इस पर्व पर मुस्लिम समुदाय के लोग आपस में गले लगकर अपनी पुराने गिले शिकवे दूर करते है और एक नया जीवन शुरू करते है यह उदगार भारतीय जनता पार्टी के जिला महामंत्री सोहनपाल सिंह ने कहे।  सोहनपाल सिंह पृथला विधानसभा क्षेत्र में मुस्लिम समुदाय द्वारा आयोजित एक कार्यकम में मुख्य अतिथि केरूप में पहुंचें थे। इस मौके पर मुस्लिम समुदाय के लोगों ने श्री सोहनपाल सिंह का जोरदार स्वागत किया एवं पगड़ी पहनाकर उनका मान सम्मान बढाया ।
इस अवसर पर बोलते हुए श्री सोहनपाल सिंह ने कहाकि प्रत्येक समाज के अपने अलग त्योहार होते हैं और उनका महत्व भी अलग.अलग होता है। लोग अपनी खुशी एकसाथ प्रकट करने के लिए त्योहार मनाते हैं। त्योहार रोजमर्रा की दिनचर्या से हटकर हम में काम करने का नया उत्साह पैदा करते हैं। कुछ त्योहार धार्मिक, कुछ सांस्कृतिक व कुछ राष्ट्रीय होते हैं जिन्हें हर समाज के हर वर्ग के लोग आपस में मिल.जुलकर मनाते हैं।
सोहनपाल सिंह ने कहा कि विश्व में भारत ही एक ऐसा देश है जहाँ पर अनेक धर्मो के लोग एक साथ निवास करते हैं । जिस प्रकार हिन्दुओं के प्रसिद्ध त्योहार दीवालीए होलीए जन्माष्टमी हैंए उसी प्रकार मुसलमानों के दो प्रसिद्ध त्योहार हैं जिनमें से एक को ईद अथवा ईदुल फि तर कहा जाता है तथा दूसरे को ईदुज्जुहा अथवा बकरईद कहा जाता है ।
यह त्योहार प्रेमभाव तथा भाईचारा बढाने वाले हैं । मुसलमान समुदाय के लोग इन त्योहारों को पूरे उत्साह के साथ मनाते हैं । ईदुल फितर का त्योहार एक मास के रोजे रखने के पश्चात आता है । ईद की प्रतीक्षा हर व्यक्ति को रहती है । ईद का चाँद सब के लिए विनम्रता तथा भाईचारे का संदेश लेकर आता है ।
चाँद रात की खुशी का ठिकाना ही नहीं, रात भर लोग बाजारों में कपडे तथा जूते इत्यादि खरीदते हैं । वैसे तो ईद की तैयारियाँ लगभग एक मास पूर्व ही प्रारम्भ हो जाती है । लोग नये.नये कपडे सिलवाते हैंए मकानों को सजाते हैं। लेकिन जैसे.जैसे ईद का चाँद देखने के दिन निकट आते हैंए मुसलमान अत्यन्त उत्साहित होकर रोजे रखते हैं तथा पाँच समय की नमाज के साथ ही ष्तरावीहष् भी पडा करते हैं। यह सारी इबादतें सामूहिक रूप से की जाती हैं।इस मौके पर उन्होंने मुस्लिम समुदाय के लोगों को ईद की मुबारकबाद दी। 
-----------------------------------------------------------------------
पौधा लगाने तक सीमित ना रहे बल्कि इसकी देखभाल भी करे: सोहनपाल
फरीदाबाद। विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर भारतीय जनता पार्टी के  जिला महामंत्री सोहनपाल सिंह ने पृथला विधानसभा के विभिन्न क्षेत्रों में पौधा रोपण किया और लोगों से आव्हान किया कि इन पौधो को लगाने तक ही सीमित ना रखे बल्कि इनकी देखभाल भी करे ताकि यह बट वृक्ष बन कर हमें लाभ पहुंचा सके। 
सोहनपाल सिंह ने कहा कि पर्यावरण शब्द का निर्माण दो शब्दों परि और आवरण से मिलकर बना है जिसमें परि का मतलब है हमारे आसपास अर्थात जो हमारे चारों ओर हैए और आवरण जो हमें चारों ओर से घेरे हुए है। पर्यावरण उन सभी भौतिकए रासायनिक एवं जैविक कारकों की कुल इकाई है जो किसी जीवधारी अथवा पारितंत्रीय आबादी को प्रभावित करते हैं तथा उनके रूपए जीवन और जीविता को तय करते हैं।
उन्होने कहाकि मनुष्यों द्वारा की जाने वाली समस्त क्रियाएं पर्यावरण को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावित करती हैं। इस प्रकार किसी जीव और पर्यावरण के बीच का संबंध भी होता है जो कि अन्योन्याश्चित है। मानव हस्तक्षेप के आधार पर पर्यावरण को दो भागों में बांटा जा सकता है जिसमें पहला है प्राकृतिक या नैसर्गिक पर्यावरण और मानव निर्मित पर्यावरण। यह विभाजन प्राकृतिक प्रक्रियाओं और दशाओं में मानव हस्तक्षेप की मात्रा की अधिकता और न्यूनता के अनुसार है।


No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages