Monday, May 13, 2019

विधायकों ने अपने अपने परिवार के साथ पैतृक गांव में किया मतदान

फरीदाबाद(abtaknews.com) 12 मई,2019;  तिगांव विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेसी विधायक ललित नागर आज अपने पैतृक गांव भुआपुर में परिवार के साथ वोट डालकर बाहर आते हुए और विजय प्रतीक विक्टरी का निशान बनाते हुए। 


पृथला विधानसभा क्षेत्र के विधायक पंडित टेकचंद शर्मा ने आज अपने पैतृक गांव भिडूकी में अपने धर्मपत्नी के साथ वोट डालकर बाहर आकर विजय प्रतीक विक्टरी का निशान दिखाते हुए। 2019 के लोकसभा चुनाव महापर्व के हवन यज्ञ में कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल ने सेक्टर 17 अपने पोलिंग बूथ पर वोट के जरिए से आहुति डाली मंत्री विपुल गोयल के साथ इस हवन यज्ञ में वोट डालने उनका परिवार भी पहुंचा हुआ था जहां विपुल गोयल पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि आज देश का सबसे बड़ा महापर्व चल रहा है महापर्व में उन्होंने अपनी भागीदारी सुनिश्चित की है और उन्होंने सभी मतदाताओं से अपील भी की की सभी मतदाता अपने मत का प्रयोग करें विपुल गोयल ने बताया कि वह हरियाणा के अंदर स्टार प्रचारक के रूप में अपनी जिम्मेदारी निभा रहे थे जहां उन्हें देखने को मिला इस बार हरियाणा में बीजेपी 10 की 10 सीटों पर जीत हासिल करेगी

पंचायत समिति फरीदाबाद के पूर्व चेयरमैन संजय कौशिक ने परिवार सहित किया मतदान 
तिगांव विधानसभा के गांव कांवरा में संजय कौशिक चेयरमैन ने भारत विश्व का सबसे बडे लोकतंत्र है। इसलिए राष्ट्र हित में मतदान सबसे अनिवार्य है। राष्ट्र पर्व के रूप में अपने परिवार एवं पत्नी सीता कौशिक और भाई योगेश कौशिक एवं सरपंच केशव भारद्वाज के साथ अपने गाँव काँवरा कलाँ में सदभावना से मतदान किया।


कांग्रेस नेता लखन कुमार सिंगला ने अपने परिवार के साथ किया मतदान 

ओल्ड फरीदाबाद अनाज मंडी स्थित राजकीय उच्चतम माध्यमिक बाल विद्यालय के बूथ नंबर 67 पर मतदान किया| उनके साथ नितिन एवं खुशबू सिंगला, कैलाश एवं कोमल सिंगला, करण एवं शेफाली सिंगला, अभिलाष एवं प्रिन्सी सिंगला, अजय एवं अर्चना सिंगला मौजूद रहे| उन्होंने जनता से भी मतदान करने की अपील की| 
जोश और अनुभव ने एक साथ किया मतदान,82 बर्ष के बुर्जुग दादा को पोलिंग बूथ लेकर पहुंचा पोता
फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र के सेक्टर 29 पोलिंग बूथ पर जोश और अनुभव एक साथ वोट करते हुए नजर आये। पिछले 5 साल से बिस्तर पकडे हुए 82 बर्ष के बुजुर्ग दादा श्रीराम चतुर्वेदी के साथ युवा पोते हर्षवर्धन ने वोट किया, और एक दूसरे के साथ सैल्फी लेते हुए दिखे। बता दें कि 82 बर्ष के बुजुर्ग दादा श्रीराम चतुर्वेदी को व्हीलचेयर पर खुद पोता लेकर आया, वहीं एक बुजुर्ग महिला ऐसी भी दिखी कि जिसकी वोट करने की जिद के चलते परजिन उन्हें बूथ पर लेकर पहुंचे। ठीक से चल नहीं पा रही 75 बर्ष बुजुर्ग महिला ने भी कंपकपाते हुए हाथों से वोट किया।अगर आपको जागरूक मतदाता का उदाहरण देना हो तो इन लोगों का दो, जो स्वास्थ्य ठीक न होने के बाद भी पोलिंग बूथ पहुंचे और अपने मत का प्रयोग किया। व्हीलचेर पर पहुंचे 82 बर्ष के बुजुर्ग श्रीराम चतुर्वेदी पिछले 5 सालों से बिस्तर पर ही हैं मगर जब आज बात देशहित में वोट करने की आई तो अपनी सभी परेशानियों को छोडकर मतदान करने व्हीलचेयर पर ही पहुंच गये, जहां दादा को खुद पोता लेकर पहुंचा। दादा पोते ने एक साथ मतदान किया ।
बुजुर्ग श्रीराम चतुर्वेदी ने बताया कि उनके साथ आज तक ऐसा कभी नहीं हुआ कि उन्होंने वोट न दिया हो, वो हमेशा से वोट करते हुए आ रहे हैं और आज भी 82 बर्ष की उम्र होने के बाद भी मतदान किया।वहीं दादा के साथ पहुंचे पोते हर्षवर्धन ने कहा कि इस देश को अनुभव के साथ जोश की भी जरूरत है। अनुभव मेरे दादा के पास है और जोश मेरे पास, अगर अनुभव और जोश एक साथ मिल जायेगा तो विजय निश्चित है।

मतदान करना प्रत्येक देशवासी का कर्तव्य बनता है: कपूर
फरीदाबाद। लोकसभा चुनावों के दौरान मतदान करने वालों में युवा वर्ग का ज्यादा योगदान देखा गया। युवा वर्ग प्रात: से अपने अपने मतदान केन्द्र पर पहुंचकर मतदान करने की जिज्ञासा लेकर खडे थे। युवा नेता कपिल कपूर ने भी एपीजे स्कूल में अपनी धर्मपत्नी  श्रीमती रशमि  कपूर से मतदान किया।कपिल कपूर ने कहा कि मतदान करना प्रत्येक देशवासी का कर्तव्य बनता है क्योकि हमारे द्वारा किये गये मतदान से ऐसा प्रतिनिधि चुनकर आये जो कि देश व प्रदेश की सुरक्षा व विकास को पूरी तरह से बनाये रखे। 
कपिल कपूर ने कहा कि मजबूत सरकार ही देश का संपूर्ण विकास कर सकती हैं और यह तभी संभव है, जब हम अपने क्षेत्र के लिए पढ़े-लिखे व साकारात्मक सोच वाले उम्मीदवार को चुन कर संसद में भेजें। पढ़े लिखे व अपने क्षेत्र का विकास करने में सक्षम जनप्रतिनिधि जब हमारी आवाज संसद में उठाता है, तभी क्षेत्र प्रगतिशील व विकास के पथ पर आगे बढ़ता है। पंरतु यह तभी हो सकता है, जब हम पूरी सोच, समझ व जागरूकता के साथ अपने मत का प्रयोग करें। इसलिए सभी का यही मानना है कि हमें अपने मत का प्रयोग करते हुए अपने क्षेत्र के लिए ईमानदार प्रतिनिधि का चयन करें।रश्मि कपूर ने कहा कि जो व्यक्ति अपने क्षेत्र के लोगों के प्रति जवाबदेह नहीं होता और जीतने के बाद गायब हो जाता है, ऐसे लोगों को अपने वोट की चोट से सबक सिखाया जा सकता है। हमें मतदान के प्रति उदासहीनता का रूख नहीं रखना है। हम अपने वोट की चोट से किसी भी उम्मीदवार को मजा चखा सकते हैं। यदि मतदाता अपने मत को लेकर जागरूक रहेगा तो उनका जनप्रतिनिधि कभी भी अपने क्षेत्र की उपेक्षा नहीं कर सकता। 

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages