Breaking

Friday, May 10, 2019

कांग्रेस प्रत्याशी की धर्मपत्नी ममता भड़ाना ने खुलवाई धरने पर बैठी महिलाओं की भूख हड़ताल


फरीदाबाद(abtaknews.com) 10 मई,2019;सेक्टर-48 में सोसायटी के सामने स्थित शराब के ठेके को हटवाने को लेकर संस्कार फाउंडेशन संस्था के बैनर तले भूख हड़ताल पर बैठी महिलाओं के साथ कल देर रात केंद्रीय राज्यमंत्री एवं भाजपा प्रत्याशी कृष्णपाल गुर्जर के बाऊंसरों द्वारा की गई बदसलूकी की घटना को लेकर गुरुवार को पूर्व सांसद एवं कांग्रेस प्रत्याशी अवतार सिंह भड़ाना की धर्मपत्नी ममता भड़ाना ने कांग्रेसी नेताओं के साथ धरनास्थल पर पहुंचकर महिलाओं से मुलाकात कर इस घटना की कड़े शब्दों में निंदा की। उन्होंने धरने पर बैठी महिलाओं को आश्वस्त किया कि कल तक यह शराब का ठेका बंद हो जाएगा और उनकी इस मामले में उच्च अधिकारियों से बात हो चुकी है और अगर फिर ठेका नहीं हटा तो यह संघर्ष अब कांग्रेस पार्टी का होगा, जिसे हर कार्यकर्ता अपना समझकर लड़ेगा। ममता भड़ाना ने भाजपा पर हल्ला बोलते हुए कहा कि एक तरफ भाजपा सरकार बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा देकर बेटियों को बचाने की बात कहती है, जबकि दूसरी ओर शराब के ठेके जैसी सामाजिक बुराई को हटाने के लिए अनशन पर बैठी महिलाओं के साथ मंत्री के बाउंसर बदसलूकी करते है, जो भाजपा सरकार का असली चेहरा उजागर करते है। 

उन्होंने कहा कि जब आबकारी विभाग ने इस अवैध ठेके को हटाने के लिए आदेश कर चुका है तो आखिर क्या कारण है कि यह ठेका नहीं हटाया जा रहा। उन्होंने कहा कि यह शराब का ठेका मार्किट के बीचोंबीच है, जिसके चलते यहां अक्सर असामाजिक तत्व यहां खड़े रहते है, जिससे यहां से गुजरने वाले युवक-युवतियां पर इसका बुरा असर पड़ता है। उन्होंने कहा कि शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रही महिलाओं ने अगर यह बात केंद्रीय राज्यमंत्री के समक्ष उठाई थी तो क्या गलत क्या, इसमें महिलाओं से बदसलूकी करना कहां तक उचित है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में तानाशाही रवैया अपनाते हुए सभी नियमों व कायदों का ताक पर रखा जा रहा है।  उन्होंने महिलाओं से कहा कि फरीदाबाद से अवतार सिंह भड़ाना के सांसद बनने के बाद महिलाओं को पूरा मान सम्मान देते हुए उनकी हर समस्या का समय रहते हल किया जाएगा। ममता भड़ाना के आश्वासन के बाद अनशनकारी महिलाओं ने जूस पीकर अपना अनशन समाप्त कर दिया।  इस मौके पर उनके साथ मुख्य रुप से पूर्व सांसद अवतार भड़ाना की बहन दया भड़ाना, पूर्व मेयर अशोक अरोड़ा, पूर्व जिलाध्यक्ष गुलशन बगगा, पूर्व पार्षद योगेश ढींगड़ा, पूर्व पार्षद राजेश भाटिया, पदमश्री ब्रह्मदत्त, बाबा रामकेवल, के अलावा संस्कार फाउंडेशन की अध्यक्षा श्रीमती परमिता चौधरी सहित संस्था की अनेकों महिला सदस्य मौजूद थी। 

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages