Thursday, May 16, 2019

परीक्षा में पास करवाने के बहाने कालेज में होता है छात्राओं का शारीरिक शोषण, मामला पहुंचा महिला आयोग


 In the excuse of passing the examination, there is a physical abuse of girls in the college;

फरीदाबाद(abtaknews.com) एक बार फिर गुरू-शिष्य का पवित्र रिश्ता तार-तार हो गया है, राजकीय महिला कॉलेज की एक छात्रा ने कॉलेज के एसोसिएट प्रोफेसर सहित तीन लोगों पर पास करवाने के बहाने शारीरिक शोषण के लिए दबाव डालने का आरोप लगाया है। छात्रा ने इसकी शिकायत कॉलेज प्रबंधन सहित प्रधानमंत्री कार्यालय, पुलिस आयुक्त और जिला उपायुक्त को ई-मेल से की है। छात्रा ने शिकायत के साथ ऑडियो और विडियो भी लगाये हैं जिसमें टीचर छात्रा को अगल से बिठाकर एक्जाम करवाने के बहाने होटल में बुला रहा है। मीडिया में मामला उछलते ही महिला आयोग भी हरकत में आया आयोग की तरफ से शुक्रवार को कॉलेज में पीड़ितों से मिलने टीम पहुंच सकती है। 
फरीदाबाद का ये वहीं राजकीय महिला कॉलेज है जो इन दिनों अपनी घिनौनी हरकतों के चलते सबालों में बना हुआ है, इस कालेज में पास करवाने के लिये छात्राओं के साथ शारीरिक शोषण किया जाता है, इसका खुलासा खुद एक छात्रा ने किया है, छात्रा ने कॉलेज प्रबंधन सहित प्रधानमंत्री कार्यालय, पुलिस आयुक्त और जिला उपायुक्त को ई-मेल से शिकायत की है। शिकायत कॉलेज के एसोसिएट प्रोफेसर सहित तीन लोगों के नाम की गई है, जिनपर परीक्षा में पास करवाने के बहाने शारीरिक शोषण करने का आरोप लगाया गया है। जिसकी ऑडियो और विडियो पर छात्रा ने शिकायत के साथ लगाई है, जिसमें टीचर छात्रा पर शारीरिक संबंध बनाने का दबाब डाल रहा है और ऐसा करने के लिये उसे अगल से परीक्षा करवाने का भी लालच दे रहा है, इतना ही नहीं टीचर छात्रा को इस घिनौनी हरकत को अंजाम देने के लिये होटल में बुला रहा है। 
एक जगह छात्रा खुद को टीचर के साथ न भेजकर अपनी सहेली को भेजने की बात कर रही है, जिसपर टीचर उस लडकी का रंग रूप पूछता है।शिकायत मिलने पर कॉलेज प्रिंसीपल डॉ नरेन्द्र कुमार ने मामले की जांच के लिए पांच महिला टीचरों कर कमेटी का गठन किया है। पूरे मामले की जांच की जा रही है जांच के बाद कार्यवाही की जायेगी।
-------------------------
फरीदाबाद कालेज यौन उत्पीड़न की शिकायत पर उच्चतर शिक्षा निदेशालय की बड़ी कार्रवाई। प्राचार्य द्वारा गठित समिति की रिपोर्ट की गई थी तलब.रिपोर्ट के आधार पर प्राथमिक दृष्टया एसोसिएट प्रोफेसर सीएस वशिष्ठ, जूनियर लैब अटेंडेंट जगदेव, चपरासी विक्रम को तत्काल प्रभाव से किया गया निलंबित।राज्य की यौन उत्पीड़न समिति को जांच के आदेश, एक सप्ताह में मांगी रिपोर्ट उच्चतर शिक्षा निदेशक ए श्रीनिवासन ने किया है निलंबित
फरीदाबाद मामले की हो सीबीआई जाँच – जयहिन्द
आम आदमी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष ने फरीदाबाद में पास कराने के बहाने से लडकियों के हुए शारीरिक शोषण पर सरकार की कार्य प्रणाली पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि  ये घटना छोटे – मोटे स्तर पर नही बल्कि बड़े स्तर पर हुई है और प्रशासन पूरी तरह से महिला सुरक्षा में फेल रहा है | क्या सरकार का ख़ुफ़िया विभाग पूरी तरह से सो रहा है जो इतने बड़े स्तर पर इस तरह की शर्मनाक घटना की भनक तक नही लगी | भाजपा  सरकार  देश व  प्रदेश में महिला सुरक्षा देने में पूरी तरह से नाकाम रही है | इस मामले की सीबीआई जाँच हो व छात्राओं को सुरक्षा दी जाए ताकि उन पर किसी भी तरीके से दबाव न बनाया जा सके | इस मामले में किसी भी तरीके से राजनीतिक हस्तक्षेप न हो | साथ ही सरकार व प्रशासन किसी भी तरीके से संवेदनहीनता न बरते और दोषियों पर जल्द से जल्द कार्यवाही |

नेताओ के ट्वीट -------
हरियाणा में ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ जुमले कि कड़वी सच्चाई 👎🏿- भाजपा ने अपने पाँच साल के शासन में प्रदेश की जनता को पूरी तरह से निराश किया है। हमारी स्पष्ट माँग है कि इस मामले में सभी दोषियों के ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई और पीड़ित छात्राओं को तुरन्त पुरा न्याय सुनिश्चित होना चाहिए।

फरीदाबाद कालेज यौन उत्पीड़न की शिकायत पर उच्चतर शिक्षा निदेशालय द्वारा एसोसिएट प्रोफेसर, जूनियर लैब अटेंडेंट एवं चपरासी को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है। विभाग की यौन उत्पीड़न समिति एक सप्ताह में देगी रिपोर्ट। बेटियों की सुरक्षा के प्रति सरकार प्रतिबद्ध है।




No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages