Breaking

Saturday, May 4, 2019

परमिता चौधरी की जिद है की फरीदाबाद को नशा मुक्त बनाकर ही लूंगी चैन की सांस


फरीदाबाद(abtaknews.com)04 मई,2019;सेक्टर-48 में ठीक गीता सोसाइटी के सामने अवैध शराब के ठेके को हटवाने के लिए महिलाओं ने अनिश्चित- कालीन भूख हड़ताल का रास्ता अपनाने का ऐलान किया है।और सरकार व प्रसाशन की बेरुखी व धोखेबाजी के खिलाफ लड़ाई लड़ने का फैसला लिया।और ये विरोध अब एक बहुत ही बड़ा आंदोलन का रूप धारण कर चुका है।आपको ज्ञात हो कि फरीदाबाद में सेक्टर 48 की महिलाएं गीता सोसाइटी के सामने अवैध ठेके को हटवाने के लिए करीब एक वर्ष से आंदोलनरत हैं।किंतु सम्बंधित विभाग की दोगली रणनीति व शराबमाफ़ियाओं को संरक्षण देने का सीधा सीधा आरोप विभाग पर महिला लगा रही हैं।और बता रहीं हैं कि विभाग द्वारा हमे यहाँ से ठेका हटाने का अस्वाशन बार बार दिया गया लेकिन अफरशाही का व रिश्वतखोरी का मामला सामने नजर आ रहा है।महिलाओं ने आरोप लगया की विभाग ने लिखित में ठेके मालिक को भी 7 दिन में यहां से ठेका हटाने का आदेश दिया।और वो 7 दिन आज पूरे हो गए लेकिन ठेका आज भी वही है।जबकि अवैध ठेके का सबसे बड़ा प्रमाण यह है कि आबकारी विभाग द्वारा इसको विरोध के चलते  कोई परमिशन नही मिली और एक बड़ी बात ना ही हुड्डा ने वहाँ पर ठेके के लिए कोई जगह नही दे रखी है।
वहीं आंदोलनकारी महिलाओं में से संस्कार फाउंडेशन की अध्यक्ष परमिता चौधरी से बात करने पर पता चला कि,फरीदाबाद सेक्टर 48 गीता निवास सोसायटी के सामने शराब के ठेके को लेकर कमिश्नर ने शराब के ठेके को हटाने के लिए हमें चिट्ठी भी दे दी है। कि यह ठेका यहाँ से ठेका हटाया जाए। इसकी कोई परमिशन नहीं है, और यहां पर इस अवैध शराब के ठेके को कभी परमिशन मिलेगी भी नहीं ! आबकारी आयुक्त ने शराब के ठेके मालिक को 7 दिन का नोटिस भी दिया था, जो 7 दिन कल शुक्रवार को पूरे हो गए हैं। लेकिन उन शराबमाफ़ियाओं की गुंडागर्दी अभी भी निरन्तर चरम पर है!
विभाग द्वारा 7 दिन का अल्टीमेटम देने के बाद भी कुछ नहीं हुआ । क्योंकि गुंडाराज व अफरशाही हावि जो है ।आपको बता दें कि हुड्डा डिपार्टमेंट ने भी कल नोटिस दे दिया था।कि यहां से ठेका जल्द हटाया जाए।क्योंकि यह पूर्णतः अवैध चल रहा है।और विभाग की ओर से यह आदेश भी हुए कि सेक्टर 48 गीता सोसाइटी के स्थानीय निवासियों के विरोध व परेशानी को देखते हुए, हम इस ठेके की परमिशन भविष्य में यहां कदापि देंगे भी नहीं। अवैध ठेके व तानाशाही के विरोध में लगभग दो बार एसजीएम नगर थाने में महिलाओं द्वारा भी कंप्लेंट की हुई है।किन्तु इतने नोटिस,लैटर व कितने धरना प्रदर्शन,हड़ताल और एक बड़ा आंदोलन का रुप लेने के बाद भी शराब माफियाओं की गुंडागर्दी व संरक्षण खूब फल फूल रहा है। यह इतने बेखौफ हैं, कि इनको किसी की भी परवाह नहीं।लेकिन अब ये फरीदाबाद ही नहीं बल्कि समूचे हरियाणा में एक बड़े आंदोलन का रूप ले लिया है।और अब महिला शक्ति ने सभी शहरवासियों से इसी के चलते जोशीली अपील भी की है किअगर प्रसाशन की इतनी अनदेखी ओर महिलाओं की तरफ से बेरुखी के बावजूद भी अगर आप एकजुट होकर शराब के ठेके को नहीं हटा पाएंगे,तो फिर आप कभी भी हिम्मत नहीं जुटा पाएंगे,अभी तो कानून के तरीके से सारे चिट्ठी पत्र हमारे पास है कि यह ठेका गुंडागर्दी पर और अवैध रूप से चलाया जा रहा है।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages