Thursday, May 9, 2019

बिजली विभाग के कर्मचारियों के साथ बर्बरतापूर्ण व्यहवहार बर्दास्त नहीं, धरना रहेगा जारी

फरीदाबाद(abtaknews.com) 09मई,2019; नहरपार खेड़ी कलाँ सबडिवीजन के बिजली कर्मचारियों ने अपने साथ हुए दुर्व्हवहार को लेकर कहा कि तापमानी 42 डिग्री की चिलचिलाती गर्मी का प्रकोप बढ़ते ही कर्मचारियों की जान पर आफत बना थपेड़ों से भरा लू का मौसम और ऊपर से सार्वजनिक क्षेत्र में बिजली के फाल्ट होना, लाइन ट्रिपिंग होना, बार बार फ्यूज उड़ना, ट्रांसफार्मर का लोड बाधित आदि इस भयंकर गर्मी से प्रभावित होने स्वाभाविक है एवम आपूर्ति को लेकर बिजली विभाग के कर्मचारियों के साथ बर्बरतापूर्ण व्यहवहार किसी हद तक सरकारी काम मे रुकावट पैदा करता है। मामला गत आठ मई लगभग साढ़े 10 बजे के आसपास का है जिसमे नहरपार क्षेत्रीय इलाके की भूपानी मोड़ कॉलोनी की लगभग पचास/साठ महिलाओं ने बिजली दफ्तर खेड़ी सबडिवीजन पर धाबा बोल दिया और लगभग दो से तीन घन्टे दफ्तर की मेन एमसीबी काट तांडव किया जिसपर कर्मचारियों ने पुलिस को इत्तला दी व अपने काम काज मे व्यस्त बिजली कर्मचारियों के साथ महिलाओं ने आते ही मारपीट की जिसमे आरोपियों ने पत्थरबाजी तथा कर्मचारियों के साथ अभद्रता की और क्षेत्रीय अधिकारी एसडीओ विकास मलिक सहित कर्मियों के साथ बदसलूकी व गाली गलौच की गई । वहीं पुलिस इत्तला के बाद पहुँचे दो पुलिस वालों के साथ भी हाथापाई हुई जिसका सीसीटीवी फुटेज भी कैमरे में कैद हो गया । अपने साथ हुई वारदात से गुस्साए खेड़ी सबडिवीजन के सभी बिजली कर्मियों ने लामबन्द होकर एसडीओ विकास मलिक को घटित घटना का लिखित नोटिस देकर दोषी आरोपियों पर एफआईआर दर्ज कराने के बारे में व कर्मचारियों के साथ हुए दुर्व्यवहार व दफ्तर में तोडफोड़ को लेकर नाराजगी जाहिर की और कहा कि यदि सोमवार तक दोषीयों के खिलाफ कार्यवाही नही की गई तो सभी कर्मचारी यूनियन को अवगत करा अपने मानसम्मान की लड़ाई को मजबूरन दफ्तर का काम काज बन्द रख कर बिजली निगम व पुलिस प्रशासन के खिलाफ दरियों पर बैठने को बाध्य होगा जिसकी नैतिक जिम्मेदारी एसडीओ खेड़ी कलाँ व बिजली निगम के अधिकारियों की होगी । आज बिजली कर्मचारी आमजन में दिनरात अपनी सेवाएँ देकर अपने काम को भलीभाँति करता है किन्तु जनता को जोखिमों से भरे इस विभाग को जो कि कर्मचारियों के अभाव के चलते जूझ रहा है इनका सहयोग करना चाहिये लेकिन देखने को मिलता है कि जनता के ही कुछ बुद्धिजीवी मानस अपने शीलता भाव कर्मचारियों दिखाते हैं लेकिन कुछ उपद्रवी भड़का कर इन्हें भी दोषी बना देते हैं । बिजली कर्मचारियों का कहना है कि जबतक कोई ठोस कार्यवाही नही की जाएगी तबतक वे शान्त नही बैठेंगें । जिसका उन्होंने अपनी तरफ से विरोध जता दिया है और कार्यवाही की माँग की है । इस रोष कार्यक्रम में फील्ड स्टाफ के कनिष्ठ अभियन्ताओं सहित कृष्णकुमार, रविन्दर, अरुण, महिपाल, अशरफ, दीपक, मानमहेन्दर, योगेन्द्र, महेश, प्रमोद, भागीरथ, प्रकाश, मनोज, इकबाल, शैलेन्द्र, रवि, तेजपाल, ऋषि आदि सैंकड़ों कर्मचारियों ने लिखित तौर पर एसडीओ को कार्यवाही हेतू अवगत कराया ।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages