Breaking

Sunday, April 14, 2019

अरावली की छाती को छलनी करने वाले खाएंगे जेल की हवा; एल एन पाराशर

फरीदाबाद(abtaknews.com)14अप्रैल,2019: एडवोकेट एल एन पाराशर अरावली के माफियाओ के पीछे पड गए हैं। वकील पाराशर ने जबसे अरावली बचाओ अभियान शुरू किया तबसे अब तक कई दर्जनों पत्थर चोरों, खनन माफियाओं पर मामला दर्ज करवा उन्हें जेल भिजवा चुके हैं। इसी कड़ी में अब अरावली पर  अवैध खनन कर  करोड़ों का पत्थर चोरी करने वाले अनंगपुर निवासी महिपाल भड़ाना पर एफआईआर दर्ज हो गई है। महिपाल भड़ाना महिपाल ग्रीन वैली में कई महीने से चुपचाप अवैध खनन करवा रहे थे और अब तक कई करोड़ के पत्थर और बजरी निकालकर बेंच चुके हैं। एक दिन पहले वकील पाराशर मौके पर गए और उन्होंने देखा कि लगभग 5 00 मीटर में 30 से 40 तक की गहराई में पत्थर निकाले जा रहे हैं। पाराशर ने कहा कि महिपाल ग्रीन वैली में जितनी खुदाई कर पत्थर निकाले गए हैं उसका आंकड़ा लगाया जाए तो 15 से 20 करोड़ रूपये के पत्थर निकाले जा चुके हैं। वकील पाराशर ने कहा कि एक डम्फर पत्थर और बजरी  लगभग 25 हजार की बिकती है और महिपाल भड़ाना लगभग 10 डम्फर बजरी, पत्थर वहाँ से हर रोज निकालकर लगभग दो लाख की बजरी रोज बेंच रहा था और ये खेल वो कई महीने से खेल रहा था। 

पाराशर ने कहा कि मैंने मौके का जायजा लिया तो हैरान रह गया और मुझे लगा कि फरीदाबाद के खनन विभाग के अधिकारी सच में कुम्भकर्णी नींद में सो रहे हैं या तो मिल खनन माफिया से मिलकर ये खेल खेल रहे हैं और अपने जेबें भर रहे हैं। वकील पराशर ने कहा कि इस अवैध खनन की सूचना मैंने बड़े अधिकारियों तक पहुंचाई और शुक्रवार मुझे सूचना मिली कि महिपाल भड़ाना के ऊपर खनन विभाग ने थाना सूरजकुंड में एफआरआर दर्ज करवा दी है। पाराशर के मुताबिक़ महिपाल भड़ाना पर दर्ज एफआईआर का नंबर 209 है और ये एफआईआर धारा 188,379, 21 4. माइनिंग ऐक्ट के तहत दर्ज की गई है। खनन अधिकारी गुलशन कुमार ने ये मामला दर्ज करवाया है। 

पाराशर ने कहा कि महिपाल भड़ाना ने वहां से करोड़ों का पत्थर और बजरी से बेंची है इसलिए उन पर कई अन्य धाराओं के तहत भी मामला दर्ज होना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैं बार-बार अधिकारियों को सबूत देता हूँ कि अरावली पर खनन हो रहा है लेकिन अधिकारी जल्द कोई कार्यवाही नहीं करते। उन्होंने कहा कि मुझे अब भी खनन अधिकारियों पर शक है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन अगर अरावली के माफिया नहीं कर रहे हैं तो इसके जिम्मदार ये अधिकारी हैं क्यू कि  ये अधिकारी जानबूझकर अनजान बने रहते हैं। पाराशर ने कहा पुलिस जल्द महिपाल भड़ाना को गिरफ्तार करे ताकि अरावली के माफियाओं में एक सन्देश जाए और वो अरावली का चीरहरण न करें। 


No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages