Breaking

Monday, April 1, 2019

मूल्य आधारित ही शिक्षा देश, समाज एवं व्यक्ति के सर्वांगीण विकास का मार्ग है; डॉ. देवप्रसाद भारद्वाज



बल्लभगढ़ (abtaknews.com) 01 अप्रैल,2019; मूल्य आधारित ही शिक्षा देश, समाज एवं व्यक्ति के सर्वांगीण विकास का मार्ग है। उक्त विचार रविवार को बल्लबगढ़ में भूदत्त कॉलोनी स्थित सरस्वती विद्या मंदिर के वार्षिकोत्सव के अवसर पर डॉ. देवप्रसाद भारद्वाज ने मुख्य वक्ता के रूप में व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि लगभग हजार वर्ष देश विदेशी दासता का गुलाम रहा, उसके बाद भी देश के मूल्य सुरक्षित रहे, इसका सबसे कारण यही है कि हमारे देश की प्राचीन शिक्षा प्रणाली मूल्य एवं संस्कार आधारित थी। अन्यथा हजार वर्ष की गुलामी किसी भी देश की पहचान को मिटाने के लिए पर्याप्त होती है। लेकिन दुर्भाग्य से 1835 में मेकाले ने जो शिक्षा पद्धति भारत पर थोपी, उसकी जड़ें बहुत गहरी हैं। विद्या भारती के माध्यम से देश भर में चल रहे हजारों विद्यालय देश के भावी कर्णधारों को आधुनिकता के साथ साथ मूल्य एवं संस्कारप्रद शुक्षा दे रहे हैं, ताकि देश का भविष्य उज्वल एवं स्वर्णिम हो सके। 
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में पधारे फरीदाबाद के उप महापौर मनमोहन गर्ग ने कहा कि शिक्षा में संस्कार आज बहुत जरुरी हैं, अन्यथा देश की युवा पीढ़ी भटक जायेगी। उन्होंने सरस्वती विद्या मंदिर की शिक्षा प्रणाली को भारत की प्राचीन गुरुकुल प्रणाली से जोड़ते हुए कहा कि ये विद्यालय बच्चों को आधुनिक शिक्षा के साथ देश की संस्कृति के साथ जोड़ने का महत्वपूर्ण कार्य कर रहे हैं। विशिष्ट अतिथि के रूप में पधारे जे सी बोस विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ दिनेश अग्रवाल ने इस अवसर पर कहा कि आज परिवार बहुत छोटे हो रहे हैं, परिवारों में संस्कार कम होते जा रहे हैं, परिवार के सदस्यों में एक दूसरे के लिए समय नहीं है, ज्यादातर लोग अपने आप में व्यस्त हैं।  इन सबका का एक बहुत बड़ा कारण शिक्षा में मूल्यों की कमी और अर्थ की महत्ता है। 

विद्यालय के वार्षिकोत्सव के अवसर पर विद्यालय के छात्र एवं छात्राओं द्वारा अनेक मनमोहक सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किये। जिनमें गणेश वंदना, स्वागत नृत्य, राधा और मीरा के भगवान कृष्ण के प्रति प्रेम में तुलनात्मक नृत्य, होली, डांडिया, हरियाणवी एवं भांगड़ा आदि सामूहिक नृत्य द्वारा बच्चों ने उपस्थित अतिथि एवं अभिभावकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इस अवसर पर विद्यालय द्वारा शहर के दो वरिष्ठ एवं बुजुर्ग समाजसेवी श्री गिरधारी लाल जुनेजा एवं  बद्रीप्रसाद अग्रवाल जी को शॉल भेंट कर सम्मानित किया गया। विद्यालय में हाल ही में समपन्न वार्षिक परीक्षाओं में प्रथम द्वितीय व तृतीय रहने वाले छात्र छत्राओं को अतिथियों के कर कमलों से पुरुष्कार वितरण हुआ और विद्यालय के प्रधानाध्यापक श्री मुकेश शर्मा ने विद्यालय के दैनिक एवं समय समय पर किये  जाने वाले कार्यक्रमों, विद्यार्थियों की कुल संख्या एवं विद्यालय से सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियों का लेखा जोखा से विस्तार से रखा। दीप प्रज्वलन के साथ कार्यक्रम का शुभारम्भ तथा वंदे मातरम् गीत के साथ कार्यक्रम संपन्न हुआ। विद्यालय की प्रबंध समिति सरस्वती शिक्षा समिति के अध्यक्ष श्री रामअवतार गुप्ता ने आये हुए सभी मेहमानों का धन्यवाद किया।  इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक  जिला संघचालक डॉ. चंद्रशेखर, जिला कार्यवाह संतोष जी, नगर संघचालक श्री राजेंद्र जैन, सरस्वती शिक्षा समिति के सचिव सीए चुन्नीलाल गर्ग जी, समिति के सदस्य हरिओम जी, सीताराम जी, आदेश जी, अनिल बंसल जी, राजेंद्र गोयल आदि सहित शहर के अनेक गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।  

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages