Breaking

Saturday, April 20, 2019

भूतपूर्व विद्यार्थी संघ ने विद्यार्थियों से किया संवाद, भूतपूर्व विद्यार्थियों ने बताया ‘कैसे बने सफल उद्यमी’

फरीदाबाद(abtaknews.com)19अप्रैल,2019; जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद द्वारा विद्यार्थियों को भूतपूर्व विद्यार्थियों के साथ बेहतर संवाद एवं तालमेल कायम करने के उद्देश्य से भूतपूर्व विद्यार्थियों के साथ परिचर्चा कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें विश्वविद्यालय के अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया। यह कार्यक्रम विश्वविद्यालय के एलुमनाई एवं काॅर्पोरेट अफेयर प्रकोष्ठ तथा इंडस्ट्रियल रिलेशन्स प्रकोष्ठ द्वारा विश्वविद्यालय के भूतपूर्व विद्यार्थी संघ ‘माॅब’ के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित किया गया था।
परिचर्चा सत्र का उद्घाटन कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने किया। इस अवसर पर माॅब के अध्यक्ष नवीन सूद, उपाध्यक्ष सुनील यादव, महासचिव अनिल कुमार भारद्वाज, राज भाटिया तथा कई अन्य वरिष्ठ पदाधिकारी उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन निदेशक, एलुमनाई एवं काॅर्पोरेट अफेयर तथा निदेशक, इंडस्ट्रियल रिलेशन्स प्रकोष्ठ डाॅ. रश्मि पोपली तथा डाॅ अनुराधा पिल्लाई की देखरेख में किया गया।
इस अवसर पर बोलते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने कहा कि भूतपूर्व विद्यार्थी विश्वविद्यालय का महत्वपूर्ण हिस्सा है। वे इस संस्थान के ब्राॅड एम्बेस्डर है जो संस्थान के विकास में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते है। संस्थान तथा भूतपूर्व विद्यार्थी संघ के बीच बेहतर जुड़ाव पर बल देते हुए कुलपति ने कहा कि भूतपूर्व विद्यार्थियों ने हमेशा इस संस्थान के विद्यार्थियों के मार्गदर्शक के रूप में तथा उन्हें रोजगार दिलाने में अहम भूमिका निभाई है और विद्यार्थियों को भूतपूर्व विद्यार्थियों के साथ बातचीत के लिए मिलने वाले अवसरों का लाभ उठाना चाहिए जिससे उनके करियर को भी बल मिलेगा। कुलपति ने सभी विद्यार्थियों को एलुमनाई पोर्टल से जुड़ने का आह्वान भी किया।
संवाद सत्र के दौरान भूतपूर्व विद्यार्थी संघ के सदस्यों, जिसमें शहर के कई दिग्गज उद्यमी भी शामिल रहे, विद्यार्थियों के साथ अपने काॅलेज का अनुभव साझा किया तथा बताया कि किसी तरह उन्होंने अपने सपनों को हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत की और बताया कि किस तरह से विद्यार्थी अपना लक्ष्य निर्धारित कर सकते है और हासिल कर सकते है। उन्होंने विद्यार्थियों को उद्यमशीलता के महत्व के बारे में बताया। उद्यमशीलता के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि हर व्यवसाय एक सोच के साथ शुरू होता है और इसके लिए कड़ी मेहनत और लगन की जरूरत होती है। इसलिए, विद्यार्थियों को अपने अभिवन विचारों पर ध्यान देना चाहिए और इसके लिए लगन के साथ काम करना चाहिए।
कार्यक्रम के दौरान विश्वविद्यालय के आॅल टेरेल व्हीकल (एटीवी) बनाने वाले विद्यार्थियों, जिन्होंने हाल ही में विभिन्न प्रतिस्पर्धी प्रतियोगिताओं में हिस्सा लिया है, को भी सम्मानित किया गया। एटीवी बनाने के लिए विद्यार्थियों को वित्तीय सहयोग माॅब द्वारा दिया गया था। संवाद सत्र में विद्यार्थियों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages