Breaking

Wednesday, March 20, 2019

श्री सिद्धदाता आश्रम के होली महोत्सव में श्रद्धालुओं ने यज्ञ -प्रवचन के उपरांत रंग-गुलाल से खेली होली


Pilgrims play Holi in the Holi festival of Shri Siddhada Ashram.
फरीदाबाद(abtaknews.com) 20 मार्च,2019;भगवान को प्राप्त करने के लिए, उनकी कृपा को पाने के लिए किसी जुगत की नहीं बल्कि उन पर भरोसा रखने की आवश्यकता होती है, जैसे शबरी ने भरोसा रखा। यह बात श्रीमद जगदगुरु रामानुजाचार्य स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य महाराज ने आज श्री सिद्धदाता आश्रम के होली महोत्सव में आपने प्रवचन में कही।

हजारों लोगों के बीच उन्होंने कहा कि भगवान को प्राप्त करने का कोई तरीका है ही नहीं। वह तो विश्वास रखने वाले भक्त पर कृपा करने के लिए खुद चले आते हैं। उन्होंने शबरी के भरोसे की बात कही जिसमें श्रीराम के खुद शबरी के द्वार आने की बात को उदाहरण के रूप में प्रस्तुत किया। शबरी के गुरु ने कहा था कि भगवान एक दिन खुद तुझसे मिलने आएंगे, जिस पर भरोसा कर शबरी रोज रास्ता बुहारते हुए युवावस्था से वृद्धावस्था में पहुंच गई। लेकिन उसका भरोसा अटूट रहा। एक दिन भगवान श्रीराम पहुंचे और शबरी को भक्ति का आचार्य भी कहा। श्रीराम ने शबरी को माध्यम बनाकर मानव मात्र को नवधा भक्ति का पाठ भी पढ़ाया। स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य जी ने होली का महत्व और भक्त प्रहलाद की भक्ति के बारे में भी प्रकाश डाला। इससे पहले उन्होंने लोककल्याण के लिए हवन भी किया और मंदिर एवं संस्थापक स्वामी जी की समाधि पर भी पूजन किया। उन्होंने आए हजारों भक्तों को स्वयं आशीर्वाद एवं प्रसाद प्रदान किया।
इस अवसर पर पूर्व सांसद अवतार सिंह भड़ाना, भाजपा नेता राजेश नागर आदि ने भी यहां माथा टेका। वहीं भजन गायक जयपुर से आए संजय पारिख, वृंदावन से आईं प्रीति राधे, गोपाल शर्मा, लोकेश शर्मा आदि ने भी अपने सुमधुर भजनों पर सभी को झुमाया। वहीं दर्जनों स्टॉल्स पर लोगों ने विभिन्न प्रकार के प्रसाद का आस्वादन लिया।


No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages